मॉस्को, जुलाई 13 (आईएएनएस)| फुटबाल की विश्व नियामक संस्था फीफा का कहना है कि विश्व कप टूर्नामेंट के पहले और टूर्नामेंट के दौरान कराए गए डोपिंग टेस्ट में एक भी मामला पॉजिटिव नहीं आया है।

 

Thank you Robbie.🤗 Good Luck Everyone! 🎤🇷🇺🇸🇦⚽🏆 #WorldCup

A post shared by FIFA World Cup (@fifaworldcup) on

वेबसाइट ईएसपीएन की रिपोर्ट के अनुसार, “विश्व कप से पहले और इस दौरान 3,000 से अधिक टेस्ट कराए गए थे। इसमें डोपिंग का एक भी मामला नहीं है।”

फीफा ने विश्व कप टूर्नामेंट से पहले कुल 2,761 नमूने इकट्ठा किए थे। इसके बाद टूर्नामेंट के दौरान 626 नमूने लिए थे। मैच न रहने के दौरान 108 टेस्ट लिए गए थे।

अपने बयान में फीफा ने कहा, “नियमित परीक्षणों को फीफा के वाडा के ‘एडीएएमएस’ प्रणाली में एथलीट जैविक पासपोर्ट कार्यक्रम के उपयोग द्वारा पूरा किया गया था।”

टूर्नामेंट में लिए गए नमूनों को 10 साल तक के लिए सुरक्षित रखा जाएगा। ऐसे में भविष्य में दोबारा इन नमूनों की जांच की जाएगी।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds