इन दिनों चीनी वैज्ञानिक उन संक्रामक बीमारियों के बारे में पता लगा रहे हैं, जिनसे ज्यादातर चीनी बच्चे प्रभावित हैं। इन वैज्ञानिकों ने हाल ही में नोरोवायरस (norovirus) का पता लगाया, जिससे पिछले हफ्ते बीजिंग में दर्जनों बच्चे संक्रमित हुए। इस बीच, सितंबर में पूर्वी चीन में स्थित अनहुई (Anhui) प्रांत में हाथ, पैर और मुंह की बीमारी (HFMD) के बारे में भी पता लगा, जिससे करीब 10,000 लोग संक्रमित थे।

बीजिंग सेंटर फॉर डिजिज़ प्रिवेंशन एण्ड कंट्रोल (Beijing Center for Disease Prevention and Control) की तरफ से अक्टूबर 30 को जारी की गयी एक रिपोर्ट के अनुसार, पिछले सप्ताह बीजिंग में नोरोवायरस से प्रभावित 22 मामले प्रकाश में आएं, जिनमें से 13 किंडरगार्डन में पढ़ने वाले बच्चे, 8 एलिमेंट्री स्कूल और एक मिडिल स्कूल का छात्र है। रिपोर्ट के अनुसार ये संख्या पिछले साल के मुकाबले काफी अधिक हैं, साथ ही सप्ताह भर में संक्रमण भी काफी तेज़ी से बढ़ा है।

नोरोवायरस अत्यधिक संक्रामक है और गैस्ट्रोएंटेरिटिस या पेट में संक्रमण का सबसे आम कारण है। डायरिया, उल्टी, पेट दर्द, बुखार और  सिर दर्द इस संक्रमण के आम लक्षण हैं। आमतौर पर इस संक्रमण के बारे में 12 से 48 घण्टों के बाद पता चलता है और मरीज को ठीक होने में करीब तीन दिनों का वक्त लग जाता है। यह बीमारी संक्रमित लोगों के संपर्क में आने या इससे प्रभावित भोजन एवं पानी के सेवन से होती है।

बीजिंग डिजीज़ कंट्रोल सेंटर ने कहा कि ऐतिहासिक आंकड़ों के आधार पर, अक्टूबर और नवंबर के बीच बीजिंग में नोरोवायरस संक्रमण ज्यादा दिखता है। कहा जा रहा है कि अागामी सप्ताह में नोरोवायरस के और अधिक मामले प्रकाश में आ सकते हैं।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds