चुनाव से पहले किसानों को लेकर सियासत गरम हो गयी है। एक तरफ जहां कांग्रेस कर्ज माफी का दांव-पेच लड़ा रही है, तो वहीं दूसरी ओर सरकार किसानों के लिए रियायतों की तरफ कदम बढ़ा रही है। दैनिक जागरण की एक खबर के अनुसार सरकार पिछले कुछ दिनों में पांच बैठक कर चुकी है, ऐसा कहा जा रहा है कि नए साल पर सरकार किसानों के लिए कई घोषणाएं भी कर सकती है।

खबरों के अनुसार बुधवार को प्रधानमंत्री कार्यालय में देर शाम तक बैठक चली। पीएम मोदी की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में वित्त मंत्री अरुण जेटली सहित पार्टी के अन्य लोग भी शामिल थे। सरकार पूर्ण कर्ज माफी पर भी विचार कर रही है और यदि ऐसा हुआ तो इसके लिए सरकार को करीब ₹3.25 लाख करोड़ का बोझ पड़ेगा। 

इसके अलावा किसानों की फसल को उचित मूल्य दिए जाने  की बात भी शामिल है, जिससे किसानों को उनकी फसल का सही मूल्य मिल सके। साथ ही फसल बीमा भी इन योजनाओं का एक हिस्सा है। हालांकि, किसानों के लिए सरकार की इन योजनाओं का किसानों को कितना लाभ मिलेगा यह तो आने वाला समय ही बताएगा लेकिन इतना जरुर है कि लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र किसानों को लेकर राजनीति बढ़ गयी है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds