देश की दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट ने अमेरिकी रिटेल कंपनी वालमार्ट की 77% हिस्सेदारी खरीद ली है। इस हिस्सेदारी के लिए वालमार्ट ने 16 अरब डॉलर (लगभग एक लाख पांच हजार 360 करोड़ रुपये) की रकम चुकाई है। जानें ख़ास बातें: 

Credit: Walmart Canada

1. वालमार्ट ने इस डील की पुष्टि कर दी है। कंपनी का यह अब तक सबसे बड़ा अधिग्रहण है।

2. इस डील में करीब 11 साल पुरानी फ्लिपकार्ट का मूल्य 20.8 अरब डॉलर आंका गया है। वालमार्ट ने एक बयान में कहा कि उसने फ्लिपकार्ट की 77 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी है।

3. फ्लिपकार्ट के को फाउंडर सचिन बंसल इस सौदे के बाद कंपनी छोड़ देंगे। उन्होंने बिन्नी बंसल के साथ मिलकर 2007 में इसकी स्थापना की थी।

4. सचिन और बिन्नी पहले अमेजन डॉट कॉम इंक में काम करते थे। उन्होंने किताबें बेचने से कंपनी की शुरुआत की थी। हालांकि माना जा रहा है कि फ्लिपकार्ट हेड कल्याण कृष्णमूर्ति और उसके फाउंडर बिन्नी फिलहाल बने रहेंगे।

5. भारत के ऑनलाइन मार्केट पर फ्लिपकार्ट की 40% हिस्सेदारी है। इससे पहले ऐसी खबरें थीं कि अमेजन ने भी फ्लिपकार्ट में हिस्सेदारी खरीदने के लिए दिलचस्पी दिखाई थी।

6. खबरें हैं कि वालमार्ट की डील फ्लिपकार्ट को ज्यादा पसंद आई। हाल के वर्षों में फ्लिपकार्ट को अमेजन से कड़ी चुनौती मिली है।

7. इस डील से भारत की ई कॉमर्स इंडस्ट्री पर बड़ा असर पड़ने जा रहा है। दुनिया की सबसे बड़ी रिटेल डील कारोबारियों और उपभोक्ताओं दोनों पर असर डालेगी।

Credit: Lippincott

8. एक दूसरी चिंता यह जताई जा रही है कि फ्लिपकार्ट के रूप में वॉलमार्ट को एक बड़ा सहयोगी मिल गया है। इसके नतीजे डरावने भी हो सकते हैं। वॉलमार्ट वर्षों से भारत में पैठ बनाने की कोशिश कर रहा है।

9. विदेशी निवेश के कड़े प्रावधानों की वजह से वॉलमार्ट ‘कैश ऐंड कैरी’ के थोक बिजनेस तक ही सिमटा रहा। 4 साल पहले भारती के साथ वॉलमार्ट के कैश-ऐंड-कैरी बिजनस जॉइंट वेंचर टूटने के बाद भारतीय बाजार में घुसपैठ बनाने के लिए अब फ्लिपकार्ट जरिया बनने जा रहा है।

10. इंडस्ट्री डेटा के मुताबिक 2016 के 13 खरब डॉलर के मुकाबले 2027 तक भारत की कुल खपत 36 खरब डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है। रिटेल मार्केट भी 2016 के 650 अरब डॉलर के मुकाबले 18 खरब डॉलर तक पहुंच सकता है।

11. खासकर फूड और ग्रॉसरी का सेगमेंट 2016 के 420 अरब डॉलर के मुकाबले 2027 तक 11 खरब डॉलर तक पहुंच सकता है। ऐसे में वॉलमार्ट ऐग्रिकल्चर में भी निवेश को प्रेरित होगा।

12. फ्लिपकार्ट और ऐमजॉन के बीच की लड़ाई ऐग्रिकल्चर व इन्फ्रास्ट्रक्चर को बड़ा बूस्ट देगी। डिमांड बढ़ने से किसानों को फायदा पहुंचेगा। यह लड़ाई उपभोक्ता मांग को भी आगे लेकर जाएगी।

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds