बसंत ऋतु का आगमन हो गया है और इस सुहावने मौसम में उत्तर-प्रदेश सरकार ने प्रदेश को एक खूबसूरत तोहफा दिया है। शनिवार को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने प्रदेश के पहले “तितली पार्क” का उद्घटान किया। यह पार्क राज्य की औद्योगिक राजधानी कानपुर में स्थित है। कानपुर चिड़ियाघर प्रशासन के अनुसार करीब 1 करोड़ की लागत से इस खूबसूरत पार्क को बनाया गया है।

1. तितलियों की 50 प्रजातियां है मौजूद!

Credit: ANI

इस संबंध में कानपुर ज़ूलोज़िकल पार्क के “डॉ. आर.के सिंह” का कहना है कि फिलहाल इस पार्क में तितलियों की करीब 50 प्रजातियां मौजूद हैं। हालांकि, उन्होंने यह भी स्पष्ट किया किया कि तितलियों की प्रजातियों की अभी तक आधिकारिक तौर पर कोई गिनती नहीं हुई है।

2. फूलों की विभिन्न प्रजातियां भी देख सकते हैं!

Credit: ANI

डॉ. आर.के ने आगे कहा कि, इसके अलावा, पार्क मे सदाबहार फूलों की 50 प्रजातियों को भी लगाया गया है, जिसमें “कैलेंडुला”, “गुलमेहंदी” और “डलिया” आदि जैसे फूलों की प्रजातियां शामिल हैं। फूलों की इतनी प्रजातियों और रंग-बिरंगी तितलियों के साथ यह पार्क पर्यटकों को मनभावन अनुभव देने के लिए तैयार है।

3. मोती झील भी है खास!

Related image
Credit: Nativeplanet

वैसे इस बसंत आप कानपुर के इस तितली पार्क में आकर अपने मन के साथ-साथ बचपन की भूली बिसरी यादों को भी तरोताज़ा कर सकते हैं। इसके अलावा यदि आप शांतचित होकर प्रकृति के साथ कुछ वक्त बिताना चाहते हैं, तो यहां के “मोती झील” जाना बिल्कुल भी ना भूलें।

4. अंग्रेज़ों ने बनवाई थी ये झील!

Image result for कानपुर का मोती झील
Credit: Destourist

ब्रिटिश शासनकाल में बनाई गई यह झील शहर का मुख्य आकर्षण केंद्र है। अंग्रेज़ों ने इस झील का निर्माण पीने के पानी के स्त्रोत के रूप में किया गया था। बाद में इसके पास बच्चों का पार्क और कलात्मक रूप से उद्यान बनाया गया, जिस कारण यह पार्क शहर के मुख्य पर्यटन स्थलों में से एक बन गया।

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds