अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पड़ोसी मुल्क से होने वाले घुसपैठ पर रोक लगाने और उनकी इस नापाक कोशिशों को नाकाम करने के लिए भारत ने एक इलेक्ट्रॉनिक तरकीब निकाली है। जिसके तहत जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा के दो हिस्सों पर अपनी तरह का इकलौता हाई-टेक सर्विलांस सिस्टम तैयार किया गया है।

एनबीटी के अनुसार, अंतरराष्ट्रीय सीमा पर एक इलेक्ट्रॉनिक दीवार बनाई गई है। जिसकी मदद से हवा,पानी एवं धरा तीनों में एक अदृश्य इलेक्ट्रॉनिक बैरियर होगा, जो घुसपैठियों को पहचानने में भारतीय जवानों की मदद करेगा। यही नहीं इसकी मदद से सीमा क्षेत्र के मुश्किल इलाकों में भी घुसपैठियों को रोकने में मदद मिलेगी।

खबरों के मुताबिक गृह मंत्री राजनाथ सिंह, सितंबर 17 को जम्मू में दो पायलट प्रोजेक्ट लॉन्च करेंगे। एक प्रॉजेक्ट के तहत जम्मू के 5.5 किमी का बॉर्डर कवर होगा। इस प्रणाली को कॉम्प्रिहेन्शिव इंटिग्रेटेड बॉर्डर मैनेजमेंट सिस्टम (CIBMS) नाम दिया गया है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds