निक्की हेली, जोकि संयुक्त राष्ट्र में अमरीकी राजदूत हैं, उन्होंने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पकिस्तान को मिलने वाली सहायता राशि को रोकने के लिए बिल्कुल तैयार हैं। ट्रंप ने पकिस्तान पर आरोप लगाते हुए कहा कि उसने आतंकवादियों को सुरक्षित रहने के लिए पनाह दी है। इस दौरान अमेरिका से 33 अरब डॉलर की सहायता राशि ली, बदले में पिछले 15 वर्षों में केवल धोखा दिया है।

Image result for pic of nikki haley
credit:PBS

पाकिस्तान का दोहरा खेल

ट्रंप के बयान का समर्थन करते हुए न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र के मुख्यालय में निक्की ने पाकिस्तान पर कई वर्षों तक दोहरा खेल खेलने का आरोप लगया.

उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तान ने आतंकवाद को समर्थन और पनाह देना लगातार जारी रखा है. इसलिए ट्रंप ने इसे रोकने के लिए हर संभव प्रयास किया। पाकिस्तान एक जगह में हमारे साथ काम करता है और दूसरी जगह वह आतंकवादियों को पनाह भी देता है, जो अफगानिस्तान में हमारे सैनिकों पर हमला करते हैं। प्रशासन इस खेल को बर्दाशत नहीं करेगा।’’ हम आपको बता दें कि अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जाने वाली 25 करोड़ 50 लाख डॉलर की सहायता राशि रोकने की घोषणा की है।

पाकिस्तान ने इसपर निराशा व्यक्त की

शीर्ष अमेरिकी राजनयिक ने कहा, ‘‘सहायता रोकने का फैसला पाकिस्तान के आतंकवादियों को पनाह देने से जुड़ा है।” पाकिस्तान ने अपने ऊपर लगे हुए आरोपों को गलत ठहराया है और निराशा व्यक्त की है। यह भी कहा कि इस आरोप से दोनों देशों के बीच बने विश्वास को तगड़ा झटका लगा है।

ट्रंप को चुनौती

पकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने अपने एक ट्वीट में लिखा है कि अमरीका ने गत 15 वर्षों में उन्हें 33 अरब डॉलर से अधिक पैसों की सहायता प्रदान की है। उन्होंने यह भी कहा कि किसी ऑडिट कंपनी के द्वारा सत्यापन कराने से अमरीकी राष्ट्रपति गलत साबित हो जाएंगे। यह कहकर उन्होंने अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को एक चुनौती दी है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds