भारतीय पर्यटकों के लिए एक अच्छी खबर है कि अब जल्द ही उन्हें श्रीलंका भ्रमण के लिए वीजा लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इस बात का खुलासा श्रीलंका के पर्यटन मंत्री अमारतुंगा ने किया।

 

The underwater water ruins of the Kadadora Rajamaha Vihara 📸 captured by Ravindu @instarav96 ❤ The ruins appear when the water levels run low in Kotmale Reservoir 🇱🇰 . Kadadora Vihara (Also known as Kadadora Sri Priyabimbaramaya Vihara) was a Buddhist temple, situated in Kadadora. The temple was abandoned and ruined as the construction of Kotmale Dam in 1979 by Mahaweli Development programme. The ruins of Vihara still can be seen when the water level of Kotmale Reservoir is low. Estimates state nearly 57 villages and 54 places of worship in Kotmale were submerged with the completion of the reservoir in 1985. Source : Wiki . Follow @exploresrilanka for more travel destinations ❤🇱🇰 #ExploreSriLanka #KadadoraVihara #Kadadora #KotmaleResevoir #Kotmale #SriLanka

A post shared by Explore Sri Lanka (@exploresrilanka) on

एनबीटी की एक खबर के अनुसार, श्रीलंका (Srilanka) के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे (Ranil Vikramsinghe) ने इस कार्य के लिए एक टास्क फोर्स का गठन किया है। वे चाहते हैं कि श्रीलंका में पर्यटन पर विशेष ध्यान दिया जाए। इस नियम के अंतर्गत भारत समेत चीन और कुछ युरोपीय देशों को वीजा फ्री प्रवेश की सुविधा दी जाएगी।

 

पिछले कई दशक से सैन्य संघर्ष के कारण श्रीलंका में पर्यटन पर सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ा है। इस वर्ष के पहले छमाही में श्रीलंका में 15.3 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इसमें भारतीय पर्यटकों की संख्या सबसे ज्यादा है। भारत से 2.06 लाख पर्यटकों ने श्रीलंका का भ्रमण किया। वहीं दूसरे स्थान पर हैं  चीन जहाँ से 1.36 लाख पर्यटकों ने श्रीलंका का भ्रमण किया।

खबर के अनुसार, वीजा फ्री प्रवेश सिर्फ मार्च से अप्रैल और अक्टूबर से नवंबर महीने के लिए होगा।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds