हाल ही में G-20 बैठक में अमेरिका और चीन के बीच बात-चीत को देखते हुए ऐसा लगा रहा था कि दोनों देशों के बीच चल रहा ट्रेड वॉर शायद अब खत्म हो जाए लेकिन कनाडा से एक मशहूर चीनी टेलिकॉम कंपनी हुवावो की सीएफओ की मेंग वानझोउ की गिरफ्तारी के बाद ऐसा लग रहा है जैसे मामला और गंभीर होता जा रहा है।

नवभारत टाइम्स के अनुसार, वास्तव में अमेरिका के अनुरोध पर कनाडा सरकार ने मेंग वानझोउ की गिरफ्तारी करवाई। मेंग को हिरासत में लेने के बाद शनिवार को अमेरिकी राजदूत टेरी ब्रैनस्टैड ने कनाडा से मेंग के प्रत्यर्पण के अनुरोध को खारिज करने की मांग की है। इससे पहले कनाडा के राजदूत मैककुलम से मेंग की रिहाई की अपील की थी।

अमेरिकी अनुरोध पर मेंग को दिसंबर 1 से कनाडा ने हिरासत में रखा है। मेंग पर आरोप है कि ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध के बावजूद भी उन्होंने उनसे व्यापार किए।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds