आधुनिकता की ओर तेजी से बढ़ रही दुनिया में भूखमरी भी उसी रफ्तार के साथ बढ़ रही है। मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र ने अपनी हंगर रिपोर्ट पेश की, जिसके अनुसार दुनिया में 82 करोड़ से भी अधिक लोगों को भोजन नसीब नहीं होता है और यह तादाद लगातर बढ़ रही है। 

यूनिसेफ द्वारा जारी किए गए प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि बीते तीन सालों से भूख की समस्या बढ़ने के क्रम में है। विज्ञप्ति में यह भी कहा गया है कि वर्तमान हालात को देखते हुए ऐसा कहा जा सकता है कि हम 10 साल पीछे चले गए हैं। और इन परिस्थितियों को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र 2030 तक भूख को मिटा देने के अपने सतत विकास लक्ष्य के पूरा होने को लेकर भी आशंकित है।

संयुक्त राष्ट्र की वार्षिक रिपोर्टे में बताया गया है कि जलवायु परिवर्तन, सूखे और बाढ़ जैसी प्राकृतिक कारणों की वजह से भी यह समस्या बढ़ती जा रही है। रिपोर्ट के मुताबिक सबसे बुरा हाल दक्षिण अमेरिका और अफ्रीका के कुछ इलाकों में है।

रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया में 821 मिलियन लोगों को भोजन नसीब नहीं होता। 151 मिलियन बच्चे जिनकी उम्र पांच साल से कम है, उनका विकास उम्र के हिसाब से नहीं हुआ है। साथ ही इस रिपोर्ट में तेज़ी से बढ़ते मोटापे की समस्या को लेकर भी चिंता जाहिर की गई है, जिसमें कहा गया है कि 8 में से एक व्यक्ति मोटापे की समस्या से जूझ रहा है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds