भारतीय खाने की बात करें तो खिचड़ी पारंपरिक भोजन में से एक है। जब हल्के भोजन की बात आती है तो खिचड़ी का कोई प्रतिस्पर्धी नहीं। अक्सर बीमारी में भी आप इसे खाकर स्वस्थ रह सकते हैं। नागपुर में 14 अक्टूबर को खिचड़ी को राष्ट्रीय भोजन घोषित करने की मांग को लेकर शेफ विष्णु मनोहर द्वारा एक ही बार में 3,000 किलो खिचड़ी बनाने का रिकॉर्ड बनाया गया। 

Khichdi, world record for largest khichdi, 3000 kg khichdi
credit : Twitter

नागपुर के चिटनीस पार्क स्टेडियम में खिचड़ी बनाने के कार्यक्रम का आयोजन किया गया। एक बड़ कड़ाही में 3,000 किलो खिचड़ी पकाई गई। इसे तैयार करने के लिए 275 किलो चावल, 125 किलो मूंग की दाल, 150 किलो चना दाल, 2000 लीटर पानी, 50 लीटर दही, 150 किलो विभिन्न प्रकार की सब्जियां, 30 किलो हरा धनिया, 100 किलो देशी घी, 35 किलो नमक और 50 किलो मूंगफली के तेल का इस्तेमाल किया गया। इसे बनाने में करीब 5 घंटे का समय लगा। 

Credit :Twitter

शेफ विष्णु मनोहर ने बताया कि खिचड़ी में प्याज-लहसुन का इस्तेमाल नहीं किया गया। उन्होंने बताया कि खिचड़ी को राष्ट्रीय भोजन घोषित करने की मांग को लेकर उन्होंने यह आयोजन किया। उन्होंने बताया कि 3,000 किलो खिचड़ी तैयार करने के लिए 10×10 फुट डायमीटर और 4 फुट गहरी कड़ाही विशेष तौर पर तैयार करवाई गई थी। यह कड़ाही स्टेनलैस स्टील की बनी हुई थी. इस कड़ाही का वजन 700 किलो था।  

Khichdi, world record for largest khichdi, 3000 kg khichdi
Credit : Twitter

पिछले साल शेफ संजीव कपूर ने जागतिक खाद्य दिवस के अवसर पर भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए 918 किलो की खिचड़ी पकाकर गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज़ कराया था।  आज 16 अक्टुम्बर जागतिक खाद्य दिवस के दिन शेफ विष्णु मनोहर दिल्ली में 3000 किलो की खिचड़ी बनाकर संजीव कपूर के रिकॉर्ड को तोड़ना चाहते हैं। 

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds