बीजेपी के वरिष्ठ सांसद और केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का बेंगलुरु के निजी अस्पताल में सोमवार सुबह 2 बजे निधन हो गया। वे पिछले कुछ महीनों से बीमार चल रहे थे। जानकारी के मुताबिक वे कैंसर से पीड़ित थे। और उनके फेफड़ो में कैंसरके कारण इंफेक्शन बहुत बढ़ गया था। जिसके चलते अनंत कुमार पिछले कई दिनों से वेंटिलेटर पर थे। वे 59 वर्ष के थे।

Image may contain: 1 person, standing
Credit : Facebook

श्री कुमार तीन महीने पहले कैंसर के इलाज के लिए न्यूयॉर्क गए थे। और पिछले महीने ही अपना इलाज कराकर लौटे थे । हालाँकि विदेशो में उनका इलाज काफी उन्नत तरीके से किया गया। पिछले 25 दिनों से श्री कुमार बेंगलुरु के शंकर अस्पताल में भर्ती थे। और सोमवार सुबह 2 बजे उन्होंने अस्पताल में अपनी आखिरी सांसें लीं। 

अनंत कुमार के पार्थिव शरीर को सुबह 11 बजे बेंगलुरु के नेशनल कॉलेज ग्राउंड में रखा जाएगा। जहाँ लोग उन्हें श्रद्धांजलि देकर आखिरी बार अंतिम दर्शन कर सकेंगे। श्री कुमार का अंतिम संस्कार मंगलवार को किया जाएगा और इस अंतिम संस्कार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भी आने की संभावना है। 

राज्य सरकार ने अपने नेता के सम्मान में सोमवार को सभी स्कूल कॉलेज में अवकाश देने की घोषणा की है। राज्य सरकार के कार्यालय भी सोमवार के दिन बंद रहेंगे। अनंत कुमार बेंगलुरु दक्षिण लोकसभा सीट से छह बार सांसद रह चुके हैं। और वे 1996 से यहाँ का प्रतिनिधित्व कर रहे थे। 

Image may contain: 3 people
Credit : Facebook

1999-2004 में अटल बिहारी वाजपेयी के कैबिनेट में नागरी उड्डयन, शहरी विकास और पर्यटन विभाग अनंत कुमार के पास था। वे 2004 के विधानसभा चुनावों के दौरान बीजेपी के राज्य अध्यक्ष थे और उसके बाद वे नौ सालों तक बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव भी रहे। 

श्री अनंत कुमार के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने शोक व्यक्त किया। नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘मेरे अहम सहयोगी और मित्र के निधन से दुखी हूँ । वे एक असाधारण नेता थे। उन्होंने एक छोटी उम्र से सार्वजानिक जीवन में प्रवेश किया और अत्यंत परिश्रम के साथ समाज की सेवा की। उन्हें हमेशा उनके अच्छे कामों के लिए याद किया जाएगा।”

 

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds