नरेंद्र मोदी सरकार के संसद में अविश्वास प्रस्ताव के जीतने से बीते सप्ताह घरेलू बाजारों में मजबूती दर्ज की गई। इसके साथ ही 88 वस्तुओं और सेवाओं पर जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) की दर में कमी का भी सकारात्मक असर रहा। साथ ही प्रमुख कंपनियों के उम्मीद से बेहतर जून तिमाही के नतीजों ने भी निवेशकों का आत्मविश्वास लौटाया है।

साप्ताहिक आधार पर, सेंसेक्स 840.48 अंकों या 2.30 फीसदी की तेजी के साथ 37,336.85 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 268.15 अंकों या 2.44 फीसदी की तेजी के साथ 11,278.35 पर बंद हुआ। बीएसई का मिडकैप सूचकांक 716.16 अंकों या 4.71 फीसदी की तेजी के साथ 15,912.62 पर बंद हुआ, जबकि स्मॉलकैप सूचकांक 728.77 अंकों या 4.64 फीसदी की तेजी के साथ 16,450.20 पर बंद हुआ।

सोमवार को शेयर बाजार की सकारात्मक शुरुआत हुई। सेंसेक्स 222.23 अंकों या 0.61 फीसदी की तेजी के साथ 36,718.60 पर तथा निफ्टी 74.55 अंकों या 0.68 फीसदी की तेजी के साथ 11,084.75 पर बंद हुआ। मंगलवार को सीमेंट और वाहन शेयरों में जोरदार तेजी दर्ज की गई, जिसके असर से सेंसेक्स 106.50 अंकों या 0.29 फीसदी की तेजी के साथ 36,825.10 पर बंद हुआ। वहीं, निफ्टी 49.55 अंकों या 0.45 फीसदी की तेजी के साथ 11,134.30 पर बंद हुआ।

बुधवार को सेंसेक्स में मामूली तेजी और निफ्टी में मामूली गिरावट दर्ज की गई। सेंसेक्स 33.12 अंकों या 0.09 फीसदी की तेजी के साथ 36,858.23 पर बंद हुआ और निफ्टी 2.30 अंकों या 0.02 फीसदी की गिरावट के साथ 11,132 पर बंद हुआ। गुरुवार को शेयर बाजार में तेजी लौटी और सेंसेक्स 126.41 अंकों या 0.34 फीसदी की तेजी के साथ 36,984.64 पर बंद हुआ। वहीं, निफ्टी 35.30 अंकों या 0.32 फीसदी की तेजी के साथ 11,167.30 पर बंद हुआ।

सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को बाजार में अच्छी मजबूती दर्ज की गई और सेंसेक्स 352.21 अंकों या 0.95 फीसदी की तेजी के साथ 37,336.85 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 111.05 अंकों 0.99 फीसदी की तेजी के साथ 11,278.35 पर बंद हुआ।

बीते सप्ताह सेंसेक्स के तेजी वाले शेयरों में प्रमुख रहे – आईटीसी (10.51 फीसदी), टाटा मोटर्स (5.64 फीसदी), आईसीआईसीआई बैंक (10.26 फीसदी), एचडीएफसी बैंक (0.54 फीसदी), लार्सन एंड टूब्रो (3.31 फीसदी), एशियन पेंट्स (2.60 फीसदी), भारती एयरटेल (4.76 फीसदी) और अडानी पोर्ट्स (6.58 फीसदी)।

सेंसेक्स के गिरावट वाले शेयरों में प्रमुख रहे – मारुति सुजुकी इंडिया (0.76 फीसदी), हीरो मोटोकॉर्प (5.32 फीसदी), बजाज ऑटो (5.74 फीसदी), यस बैंक (4.33 फीसदी) और विप्रो (3.02 फीसदी)।

राजनीति के मोर्चे पर, निचले सदन में 12 घंटे तक चली बहस के बाद शुक्रवार (20 जुलाई) को नरेंद्र मोदी सरकार ने लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव जीत लिया। सदन के 451 सदस्यों में, 126 सदस्यों ने प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया, जबकि 325 वोट इसके खिलाफ दिए गए। अविश्वास प्रस्ताव तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) द्वारा लाया गया था और कांग्रेस सहित कई विपक्षी दलों ने इसका समर्थन किया था।

इस बीच, शनिवार (21 जुलाई) जीएसटी परिषद की 28 वीं बैठक में 88 सामानों और सेवाओं पर कर दरों में कमी की घोषणा की गई। संशोधित कर दरें 27 जुलाई (शुक्रवार) से लागू हो गई है।

आर्थिक मोर्चे पर, ब्रिक्स देशों को किए जानेवाले निर्यात में वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 7.5 फीसदी की तेजी दर्ज की गई है।

विदेशी मोर्चे पर, अमेरिका (America) में वस्तुओं का व्यापार घाटा जून में 5.5 फीसदी या 3.6 अरब डॉलर ढ़कर 68.3 अरब डॉलर हो गया। अमेरिका के वाणिज्य विभाग ने गुरुवार (26 जुलाई) को यह जानकारी दी। यूरोप में, यूरोपीय केंद्रीय बैंक (ईसीबी) ने ब्याज दरों को अपरिवर्तित रखा है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds