मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी ने पिछले दो वर्ष के रिकॉर्ड को तोड़ते हुए 8.2 प्रतिशत की वृद्धि की है। इससे पहले वर्ष 2015-16 के जनवरी-मार्च तिमाही में 9.3 प्रतिशत रही थी।

 

नवभारत टाइम्स की एक खबर के अनुसार, पिछली तिमाही और बीते वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी क्रमशः 7.7 और 5.59 प्रतिशत थी।मैन्यूफैक्चरिंग, इलेक्ट्रिसिटी, गैस, वॉटर सप्लाइ व अन्य यूटिलिटी सर्विसेज, और डिफेंस अन्य सेवाओं में 7 प्रतिशत से ज्यादा की तेजी दर दर्ज की गई है।

सरकार के द्वारा आधार वर्ष 2004-05 को बदलकर 2011-12 कर दिया गया था। नए आधार वर्ष की स्थिर कीमतों के आधार पर इस वर्ष  की पहली तिमाही में देश की अनुमानित जीडीपी 33.74 करोड़ रूपए दर्ज की गई है। पिछले वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी 31.18 करोड़ रूपए थी।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds