क्रॉस इंडस्ट्री हायरिंग यानी एक अलग सेक्टर में काम कर रहा व्यक्ति दूसरे विभाग में जब नौकरी करे तो उसे क्रॉस इंडस्ट्री हायरिंग कहते हैं। इसका प्रचलन अब तेजी से बढ़ रहा है। जहाँ पहले यह कुछ दो कंपनियों तक सीमित था लेकिन अब इसका दायरा बढ़ रहा है और अनुमान के अनुसार आने वाले 1-2 वर्षों में दोगुना होने की संभावना है।

नवभारत टाइम्स की खबर के अनुसार, एक्जिक्यूटिव एक्सेस इंडिया के मैनेजिंग डाइरेक्टर रोनेश पुरी का कहना है कि उनके फर्म से जुड़े लगभग 30 प्रतिशत मुवक्किल की कंपनियां क्रॉस सेक्टर हायरिंग को लेकर उत्साहित हैं। पिछले कुछ वर्षों में यह संख्या मात्र 10 प्रतिशत थी। कंपनियों में विभिन्नता की तलाश हो रही है। किसी एक सेक्टर में काम कर रहे शख्स को दूसरे सेक्टर में लाने का यह जो चलन है वह जोर पकड़ रहा है और यह आगामी 6-12 महीनों में दोगुना हो जाएगा।”

एचआर इंडस्ट्री के विशेषज्ञों के अनुसार, इस हायरिंग का फायदा यह है कि इससे नई-नई योजनाएं और कारगर रणनीति पर विचार-विमर्श हो रहा है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds