देश के निर्यात में जून में 17.57 फीसदी की तेजी दर्ज की गई है और यह 27.7 अरब डॉलर रही। लेकिन कच्चे तेल की कीमतों में पिछले साल की तुलना में आधे से ज्यादा बढ़ोतरी हुई है जिससे देश का व्यापार घाटा बढ़कर 16.60 अरब डॉलर पहुंच गया है।

 

आधिकारिक आंकड़ों से शुक्रवार को यह जानकारी मिली। वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल जून में भारत का व्यापार निर्यात 23.56 अरब डॉलर था।

मंत्रालय द्वारा जारी बयान में कहा गया कि पेट्रोलियम उत्पादों, ऑर्गेनिक और इनऑर्गेनिक केमिकल्स, इंजीनियरिंग गुड्स, और ड्रग्स व फार्मास्यूटिकल्स के निर्यात में पिछले साल के इसी अवधि की तुलना में जून में तेजी आई है।

समीक्षाधीन माह में पेट्रोलियम पदार्थो के निर्यात में जून में पिछले साल के समान माह की तुलना में भारीभरकम 52.53 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है।

बयान में कहा गया, इस साल जून में गैर-पेट्रोलियम, गैर-रत्न और आभूषण निर्यात कुल 20.13 अरब डॉलर मूल्य का हुआ, जबकि साल 2017 के जून में यह 17.48 अरब डॉलर था।

समीक्षाधीन माह में देश के आयात में साल 2017 के समान अवधि की तुलना में 21.31 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई और यह 36.52 अरब डॉलर से बढ़कर 41 अरब डॉलर हो गई।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds