बीते कई दिनों की तेजी के बाद गुरुवार को चने के दाम में गिरावट दर्ज की गई। चने में आई हालिया तेजी के बाद कुछ उत्पादक मंडियों में भी चने का बाजार भाव सरकार द्वारा रबी सीजन के लिए तय न्यूनतम समर्थन मूल्य 4,400 रुपये प्रति क्विंटल के करीब हो गया है।

कारोबारियों के अनुसार, ऊंचे भाव पर मुनाफावसूली के कारण चने के दाम में गिरावट आई है लेकिन दोबारा तेजी लौटने की पूरी संभावना है।

मध्यप्रदेश की प्रमुख चना मंडी इंदौर में गुरुवार को देसी चना 4,400 रुपये प्रति क्विंटल था जबकि डॉलर चना में क्वालिटी के अनुसार व्यापक रेंज में कारोबार हुआ। डॉलर चना का दाम 4,000-6,000 रुपये प्रति क्विंटल था।

वहीं मध्यप्रदेश की ही नीमच मंडी में देसी चना में 3,700-4,100 रुपये प्रति क्विंटल में कारोबार हुआ। वहीं, दिल्ली की लॉरेंस रोड मंडी में राजस्थान लाइन चना 4,625 और मध्यप्रदेश लाइन चना 4,550 रुपये प्रति क्विंटल था। दिल्ली में चने के दाम में 50-75 रुपये की गिरावट दर्ज की गई जबकि मध्यप्रदेश और नीमच में 25-50 रुपये प्रति क्विंटल की गिरावट रही।

देश में कृषि उत्पादों का सबसे बड़ा वायदा बाजार नेशनल कमोडिटी एंड डेरीवेटिव्स एक्सचेंज (एनसीडीईएक्स) पर बेंचमार्क अगस्त डिलीवरी चना अनुबंध बढ़त के साथ 4,381 प्रति क्विं टल पर खुला लेकिन मुनाफावसूली बढ़ने के कारण भाव 4,283 रुपये तक लुढ़का। हालांकि बाद में थोड़ी रिकवरी के बाद 71 रुपये यानी 1.62 फीसदी की कमजोरी के साथ 4,308 रुपये प्रति क्विंटल पर बंद हुआ।

एनसीडीईएक्स पर चने के सभी वायदों में कमजोरी दर्ज की गई।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds