इस छोटी कुत्तिया नें इस ऑस्ट्रेलियाई धावक को अपना दोस्त चुना और गोबी मरुस्थल (Gobi desert) से चीन (China) तक भीषण दौड़ में  6-दिनों तक उसके साथ दौड़ी। इस प्यारी कहानी को 20वीं सेंचुरी फॉक्स (20th Century Fox) ने फिल्म बनाने के लिए चुना है।

डायोन लेओनार्डो ने, गोबी (Gobi), एक बेघर कुत्तिया जो 150 मील के गोबी मरुस्थल में 77 मील तक उनके साथ दौड़ी थी, के साथ अपनी पहली मुलाक़ात को याद करते हुए लिखा, “जैसे ही मैं अपने तम्बू में बैठता, वह कुत्तिया मेरे बगल में बैठ जाती थी—मैंने रोगाणुओं और रोगों के बारे में सोचना शुरू कर दिया।”

ऑस्ट्रेलियाई धावक ने ध्यान दिया कि यह कुत्तिया 4 मरुस्थल: गोबी, मार्च 2016 अल्ट्रामैराथन के पहले दिन के दौरान धावकों के साथ दौड़ रही थी। एक लंबे दिन के बाद, डायोन ने उसे धावकों के तम्बू के पास, अपनी सुन्दरता दिखाते हुए, खाना मांगते हुए फिर से देखा। 

परन्तु डायोन ने नहीं दिया क्योंकि उसके पास सिर्फ़ अपने लिए खाना था।

दूसरे दिन, यह गन्दगी से मैली कुत्तिया शुरुआती रेखा पर डायोन के बगल में खड़ी हुई अपनी पूँछ हिला रही थी। उसने डायोन को “बड़ी, सुन्दर भूरी आँखों”। “जाओ यहाँ से, दूर जाओ,” उन्होंने कुत्तिया को कहा। “तुम कुचल जाओगी।”

लेकिन फिर भी, वह डायोन के साथ दौड़ के दूसरे दिन भी चीन के शुष्क रेगिस्तान में दौड़ती रही। जब डायोन और बाकी धावक रात में तम्बू में रुके तब भी, वह कुत्तिया डायोन को छोड़ कर जाने को तैयार नहीं थी।

उन्होंने लिखा, “माँस का टुकड़ा मुँह की ओर ले जाते समय मुझे ध्यान आया कि मैंने इस कुत्तिया को दिन में एक बार भी खाते हुए नहीं देखा।”

उन्होंने भूखी कुत्तिया को माँस दे दिया, जिसने वह ख़ुशी से खा लिया। तब डायोन ने इसका नाम गोबी रख दिया।

तीसरे दिन, गोबी फिर से शुरूआती रेखा पर, डायोन का इंतज़ार कर रही थी। वह डायोन के साथ ही दौड़ी और जब वे नदी के पास पहुँचे, नदी पार करते समय डायोन ने गोबी को अपने बायें हाथ में उठा लिया।

चौथे और पाँचवे दिन, डायोन को चिंता हो रही थी कि कहीं इतनी गर्मी में गोबी निर्जलित न हो जाए और इसलिए उन्होंने उसे दौड़ प्रतियोगिता के आयोजक को सौंप दिया। दौड़ के आयोजक ने यह सुनिश्चित किया कि जब डायोन दौड़ की अंतिम रेखा पर पहुँचेगे, गोबी उन्हें वहीं उनका इंतज़ार करते हुए मिलेगी।

दौड़ के अंतिम दिन पर गोबी ने आखरी मील भी डायोन के साथ पार की और उन्होंने अंतिम रेखा साथ में पार की।

तब तक, गोबी, डायोन का दिल पिघला चुकी थी। उन्होंने उसे गोद लेने और अपने साथ घर वापस एडिनबर्ग (Edinburgh), स्कॉटलैंड (Scotland) ले जाने का फैसला किया, जहाँ वे अपनी पत्नी, लुकजा (Lucja) के साथ रहते थे।

दुर्भाग्यवश, जब डायोन स्कॉटलैंड में गोबी को गोद लेने की कार्यवाही पूरी कर रहे थे, गोबी, चीन में कहीं खो गई।

निराश डायोन, गोबी को ढूंढने के लिए चार महीने चीन में रहा। वहाँ उन्होंने उसे ढूंढने के लिए कई सोशल मीडिया कैंपेन किए।

इस कहानी का बहुत ही सुन्दर अंत हुआ जब एक जोड़े ने इसे पार्क में देखा और फिर आखिरकार डायोन अपनी इस प्यारी मैराथन साथी से मिले।

तब से, गोबी, डायोन के साथ एडिनबर्घ में उनके प्यारे घर में रह रही है।

डायोन ने कहा, “बहुत से चीनी लोग इसे पिछले जन्म का सम्बन्ध बताते हैं। जब वह खो गई थी और हमने उसे ढूँढा, मुझे लगता है कि यह दोगुनी किस्मत है।”

इन दोनों के बीच के सुन्दर रिश्ते ने लोगों के दिल में जगह बना ली और 20वीं सेंचुरी फॉक्स ने इस कहानी पर फिल्म बनाने के लिए सौदे पर हस्ताक्षर किए!

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds