जैसे-जैसे ऑस्ट्रेलियाई विदेशों में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) के घुसपैठ और प्रभाव के खिलाफ खड़े होकर बात करते रहेंगे, चीनी शासन के खिलाफ जमीनी स्तर पर चीन में आन्दोलन गति बनाए रखेगा।

जब से द एपोक टाइम्स (The Epoch Times) ने कम्युनिस्ट पार्टी पर द नाइन कमेंटरी (The Nine Commentaries on the Communist Party) प्रकाशित की, 30 करोड़ से अधिक उत्पीड़ित चीनी लोगों ने सीसीपी से अपने संबंधों को तोड़ दिया और उसे छोड़ दिया।

अप्रैल 21 को, इस पड़ाव को मनाने के लिए सिडनी के हाइड पार्क में क्विट सीसीपी (Quit CCP) आंदोलन के समर्थक एकत्रित हुए थे।

बहुत कम उम्र से या जन्म से ही प्रचार के तहत बड़े होने के बावजूद, चीनी लोग सीसीपी की वास्तविक प्रकृति को पहचानने लगे हैं, जो कि कुछ हद तक सोवियत संघ से विरासत में मिली थी, और इसकी शुरुआत से ही मध्य साम्राज्य (Middle Kingdom) के कुछ लोगों के लिए रक्तपात और दुःख के अलावा कुछ भी नहीं लायी।

गैर-लाभकारी ऑस्ट्रेलियाई टीएफपी (Australian TFP) के महाप्रबंधक पॉल फोली (Paul Folley) ने इस कार्यक्रम में अपने संगठन का प्रतिनिधित्व किया और अपना समर्थन व्यक्त किया, “मुझे लगता है कि हम एक ऐतिहासिक क्षण देख रहे हैं। मैं यह समझता हूँ कि जो हम देख रहे हैं वह इस कम्युनिस्ट देश का पतन है।

“मेरा मानना है, क्योंकि यह चीन में अधिक से अधिक मानवाधिकारों के दुरुपयोग करता है, कम्युनिस्ट [पार्टी] गिर जाएगी। क्योंकि इस तरह की एक कृत्रिम, बुराई की प्रणालीवाला… शासन हमेशा के लिए नहीं रह सकता है। यह नामुमकिन है।”

“मैं नहीं मानता कि चीन को एक महान देश होने के लिए साम्यवाद की जरूरत है। अगर चीन स्वतंत्र होता और उसे स्वतंत्र होने की इजाजत होती, तो चीनी भी महान लोग होंगे ही।”

“कम्युनिस्ट पार्टी ने चीन को दबा दिया है। मुझे उम्मीद है कि इसका अंत होगा। मुझे उम्मीद है कि चीनी लोग साम्यवाद से मुक्त होंगे।”


ऑस्ट्रेलियन ट्रेडिशन फेमिली प्रॉपर्टी एसोसिएशन के पॉल फोली ने कहा कि वह हमेशा फालुन गोंग अभ्यासिओं का साथ देंगे। (The Epoch Times)

फोली ने पार्टी से हटने के लिए लाखों चीनीयों को सक्षम करने के लिए क्विट सीसीपी आंदोलन के महत्व को भी मान्यता दी। “ऑस्ट्रेलियाई लोग आपके विचार के प्रति बहुत ही सहायक होंगे … [क्योंकि] पश्चिमी लोग स्वतंत्रता में विश्वास करते हैं।”

फोली का मानना है कि बड़ी संख्या में चीनी लोग कम्युनिस्ट पार्टी से अपने संबंधों को काटने का चयन कर रहे हैं, जो ऑस्ट्रेलियाई लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण संदेश है: कि ज्यादातर चीनी सीसीपी के नियंत्रण में नहीं रहना चाहते हैं।

“हम ऑस्ट्रेलियाई लोग यह देखकर बहुत उत्साहित होते हैं की आप पार्टी के नियंत्रण को स्वीकार नहीं करना चाहते। आप, खुद इससे मुक्त होना चाहते हैं। “

उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के बारे में कहा, “हम इस बात पर दृढ़ हैं कि हम चीन द्वारा नियंत्रित नहीं किये जाएँगे।”

ऑस्ट्रेलियाई तिब्बती परिषद के सदस्य क्यिन्ज़ोम धोंग्दयू (Kyinzom Dhongdue) ने कहा कि, ऑस्ट्रेलिया में तिब्बती समुदाय के प्रतिनिधि के रूप में, वह क्विट सीसीपी आंदोलन का समर्थन करती हैं।

“चीन में लोग—जो लोग सत्य और स्वतंत्रता, लोकतंत्र, मानवाधिकार चाहते हैं—हमें हार नहीं माननी चाहिए। जब हम सभी बलों को एक साथ जोड़ते हैं, तो हम जीत सकते हैं,” उन्होने कहा।

ऑस्ट्रेलिया की तिब्बती समिति के सदस्य क्यिन्ज़ोम धोंग्दयू ने कहा कि वास्तविक शक्ति एक देश को सदाचार से चलाने में है, न की आर्थिक और सैन्य शक्ति के आधार पर। (The Epoch Times)

“चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ने चीन में लाखों चीनी लोगों पर दमन किया है। चीन आज राष्ट्रीय सुरक्षा की तुलना में आंतरिक सुरक्षा पर अधिक खर्च कर रहा है।

“इन बुनियादी सिद्धांतों की नींव के बिना… जैसे चीन के समाज में स्वतंत्रता और मानवाधिकार, सरकार हमेशा के लिए नहीं चल सकती है।

“इस तरह के आंदोलन, लोग जागरूकता, सच्चाई की तलाश करने वाले लोग, यह बहुत शक्तिशाली है।”

एनएसडब्ल्यू, में पॅरामॅट्टा काउंसिल (Parramatta Council) के लॉर्ड मेयर (Lord Mayor) एंड्रयू विल्सन (Andrew Wilson) ने इस कार्यक्रम में अपना समर्थन दिखाया। “यह एक अच्छी चीज है। मैं चीन में शांतिपूर्ण बदलाव की उम्मीद कर रहा हूं,” विल्सन ने कहा।

पॅरामॅट्टा के मेयर, एंड्रयू विल्सन ने अपने भाषण में कहा कि उन्हें उम्मीद है कि फालुन गोंग अभ्यासिओं जैसे अन्य लोग खड़े होंगे और चीनी लोगों पर हो रहे सीसीपी के अपराधों के बारे में बताएँगे। (The Epoch Times)

ऑस्ट्रेलिया में वियतनामी एसोसिएशन के महासचिव, थू दीन ट्रान (Thuy Dinh Tran) भी उपस्थित थे, और उन्होंने कहा कि छोड़ो सीसीपी आंदोलन बहुत उत्साहजनक है।

“यह कम्युनिस्ट शासन के दिनों के अंत की शुरुआत है। कम्युनिस्ट शासन झूठ पर पनप रहा है, लोगों को धोखे से यह विश्वास दिला रहा कि वे जो कर रहे हैं, सही है, हत्याओं जैसे आपराधिक गतिविधियों के सभी कृत्यों को छुपाकर।

“लोग कम्युनिस्ट पार्टी की सच्चाई देखना शुरू कर रहे हैं, और यह कि उनकी आर्थिक समृद्धि मनुष्यों की हत्या करने पर आधारित है… उन आपराधिक गतिविधियों के आधार पर जो हमेशा के लिए नहीं चल सकते हैं।

“मुझे लगता है कि यह आंदोलन अच्छा है, भविष्य चीन और चीनी लोगों और दुनिया भर के कई अन्य लोगों के लिए अच्छा है जो कम्युनिस्ट शासन के अधीन हैं।”

“कम्युनिस्ट पार्टी छोड़ने की आपकी कार्रवाई से, आप हमें आशा देते हैं। आप कम्युनिस्ट पार्टी की तानाशाही के तहत कई अन्य देशों को आशा देते हैं।

“तो 30 करोड़ लोग, बधाई हो! क्योंकि आप प्रकाश हैं, जिनका हम अनुसरण करने जा रहे हैं।”

वियतनामी समुदाय के महासचिव थूय दीन ट्रैन (Thuy Dinh Tran) ने कहा कि सीसीपी (CCP) और चीन एक नहीं है, और वीसीपी (VCP)  वियतनाम के बराबर नहीं है। (The Epoch Times)

एमेरिटस (Emeritus) के प्रोफेसर डेविड फ्लिंट (Professor David Flint), जो इस कार्यक्रम में भाग लेने में असमर्थ थे, ने समर्थन का एक संदेश भेजा, जिसमें उन 30 करोड़ लोगों की प्रशंसा की जिन्होंने सीसीपी को छोड़ दिया है।

“साहस एक गुण है जिसकी हम ऑस्ट्रेलियाई विशेष रूप से सराहना करते हैं—चाहे वह युद्ध के समय में या शांति के दौरान हो जहां पुरुष और महिलाएं दूसरों की सेवा में निःस्वार्थता और बहादुरी दिखाते हैं।

“स्वतंत्रता के अमेरिकी घोषणापत्र (American Declaration of Independence) के अनुसार, मनुष्य को अपने निर्माता द्वारा कुछ अहस्तांतरणीय अधिकारों के साथ संपन्न किया गया है।

“यह सिद्धांत उन सभी लोगों पर लागू होता है, उनके सहित जो चीन में सत्तावादी एक-पार्टी शासन के अधीन रहते हैं।

“कुछ लोग सत्तारूढ़ पार्टी की सदस्यता छोड़कर इसके विरुद्ध खड़े हैं यह बहादुरी का एक कार्य है और इन लोगों को, सभी स्वतंत्र देशों और उनके निर्वाचित प्रतिनिधियों द्वारा, विशेष रूप से जो सरकार के लोग हैं, सलाम और प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।

इस बहादुरी का समर्थन करने में हममें से कोई भी चुप नहीं होना चाहिए।”

सेवानिवृत्त दिग्गज श्री हू वी (Mr Hu Wei), जिन्होंने पहले मुख्य भूमि चीन में प्लेटून नेता, कंपनी के नेता और सेना के कर्मचारी अधिकारी के रूप में सेवा की थी, ने उपनाम के बजाय द एपोक टाइम्स की वेबसाइट पर सीसीपी छोड़ने के लिए अपने असली नाम का उपयोग करने की अपनी कहानी साझा की।

इस अवसर पर, उन्होंने अधिक लोगों को कदम उठाने और सीसीपी से अपने संबंधों को काटने के लिए प्रोत्साहित किया, ताकि वे अपनी स्वतंत्रता पर नियंत्रण प्राप्त कर सकें।

सीसीपी के एक पूर्व सैन्य अधिकारी हू वी (Hu Wei) ने कहा कि थ्री रिटायर्ड मूवमेंट (Three Retired Movement) एक महान मोक्ष परियोजना और मानव हृदय और दिमाग का उद्धार था। (The Epoch Times)

“यह एक बहुत सार्थक और प्रशंसनीय मुक्ति आंदोलन है; यह लोगों के दिलों और दिमागों के लिए मुक्ति है। 30 करोड़ से अधिक लोगों ने सीसीपी के बुरे नियंत्रण को रद्द कर दिया है और सच्ची आजादी पाई है।”

यह वास्तविक संख्या ही “एक संकेत था कि यह दुष्ट चीनी कम्युनिस्ट पार्टी इतिहास में अपने अंत तक पहुंच गई है और आने वाले पतन का सामना कर रही है।”

उन्होंने आगे कहा, “इतिहास में इस महत्वपूर्ण समय पर, मैं सभी चीनी लोगों को कदम उठाने और अपने विवेक को बनाए रखने, अपनी गरिमा बनाए रखने और अपनी मानवता को आगे बढ़ाने की स्वतंत्रता पर आह्वान करता हूं।”

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी छोड़ने के लिए ग्लोबल सर्विस सेंटर के सिडनी प्रतिनिधि श्री ली युआन हुआ ( Mr Li Yuan Hua) ने समझाया कि कई केंद्र हैं जो चीनी लोगों को सीसीपी छोड़ने में सहायता करते हैं। “सिडनी में, एक दर्जन से अधिक ऐसे केंद्र हैं जो स्थानीय चीनी लोगों और मुख्य भूमि चीन के पर्यटकों की सेवा करते हैं। इन केंद्रों के लिए स्वयंसेवक चीनी लोगों के विवेक को जागृत करने के लिए और सच्चाई फैलाने के लिए बारिश, गारे और धुप में काम करते हैं, ताकि वे सीसीपी छोड़ सकें।

“प्रत्येक व्यक्ति जो सीसीपी छोड़ने का विकल्प चुनता है, ने सीसीपी के दिए गए जंजीरों को हटा देने के लिए, सीसीपी द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों को ख़त्म करने के लिए अपने दिल से निर्णय लिया है। यह एक आध्यात्मिक मुक्ति है और विवेक का पुनरुत्थान है। “

सिडनी क्विट सीसीपी सर्विस सेंटर के प्रवक्ता ली युआन हुआ (बाएं) ने उनके नए जीवन के लिए 30 करोड़ स्वदेशवासिओं को बधाई दी। (The Epoch Times)

उनका कहना है कि इस क्विट सीसीपी आंदोलन ने सीसीपी के नियंत्रण से चीनी लोगों की आत्माओं को मुक्त कर दिया है, और पारंपरिक जड़ों को फिर से खोजने, मानवता पर लौटने और मनुष्य और दिव्यता के बीच संबंधों का पुनर्निर्माण करने के लिए अमूल्य योगदान दिया है।

सीसीपी से अलग होने वाले लोगों की संख्या मार्च 23, 2018 को 30 करोड़ तक पहुंच गई है, और प्रति दिन 100,000 व्यक्तियों के दर से बढ़ती जा रही है।

एपोक टाइम्स की संवाददाता नीना यान (Nina Yan) द्वारा

एपोक टाइम्स से अनुमति के साथ प्रकाशित

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds