चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के भ्रष्टाचार और मानवाधिकारों के दुरुपयोग पर बोलने या लिखने के बाद शिक्षकों, प्रोफेसरों, शिक्षाविदों, यहां तक कि वकीलों को पुलिस द्वारा उठा कर ले जाना असामान्य बात नहीं है। इनमें से कुछ साहसी आत्माएं फिर से उभरती हैं … और कुछ गायब हो जाते हैं, जो फिर कभी नहीं दिखाई देते हैं।

उदाहरण के लिए यांग शाओजेंग (Yang Shaozheng) को लें, एक प्रोफेसर जिन्होंने 11 साल तक गुइज़ौ (Guizhou) विश्वविद्यालय में गेम सिद्धांत (game theory) और उच्च सूक्ष्म अर्थशास्त्र (advanced microeconomics) पढ़ाया।

प्रोफेसर यांग शाओजेंग (©Video Screenshot | NTD)

यांग, जिनकी उत्कृष्ट प्रतिष्ठा है, को अगस्त 15, 2017 को विश्वविद्यालय से निष्कासित कर दिया गया था, “लंबे समय से चलने वाले प्रकाशन और राजनीतिक रूप से गलत भाषण के ऑनलाइन फैलाने, बड़ी संख्या में राजनीतिक रूप से हानिकारक लेखों को लिखने और परिसर और समाज में एक हानिकारक प्रभाव पैदा करने के लिए।”

इसके अलावा, 49 वर्षीय प्रोफेसर को “पछतावा ना होने” और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के अपने राजनीतिक विचारों पर उन्हें फिर से शिक्षित करने के प्रयासों को अस्वीकृत कर देने के लिए दोषी माना गया था।

तो, उन्होने ऐसा क्या लिखा था जिससे उन्हें अपना काम, और अब उनकी स्वतंत्रता को खोना पड़ा?

खैर, काफी कुछ …

उनके गायब होने से पहले, उन्होंने नवंबर 2017 में रेडियो फ्री एशिया (Radio Free Asia) से बात की थी। यांग ने बताया कि कैसे गुइज़ौ प्रांत में लोक सुरक्षा ब्यूरो चाहती थी कि उन्होंने राजनीतिक रूप से संवेदनशील अवसर, 19वीं पार्टी कांग्रेस, जो अक्टूबर 2017 में आयोजित की गई थी, से पहले “बातचीत” के लिए उनसे मिलना चाहिए था।

“उन्होंने कहा कि 19वीं पार्टी कांग्रेस के दौरान मुझे अपना मुंह बंद रखना पड़ेगा,” यांग ने कहा। “मैं बात नहीं कर सका, ऑनलाइन कुछ भी नहीं लिख सका, और कक्षा के दौरान कुछ भी राजनीतिक नहीं कह सका। मैंने उनसे उस समय कहा : आप यह जो कर रहे हैं वह हमारे राष्ट्रीय संविधान के अनुसार अवैध है।”

यांग ने चुप रहने से इंकार कर दिया।

“दूसरी बार जब वे मेरे पास आए थे, तब 19वीं पार्टी कांग्रेस के उद्घाटन समारोह की ही शाम के लगभग 9:00 बजे थे। उन्होंने पहले मुझपर अफवाह फैलाने का आरोप लगाया। मैंने उनसे पूछा कि मैंने कहां अफवाहें फैलाइ थीं और यह मांग की कि वे तथ्यों को प्रस्तुत करें। उनके पास प्रस्तुत करने के लिए कोई तथ्य नहीं थे। अंत में उन्होंने मुझे स्पष्ट रूप से बताया कि मुझे चुप रहना पड़ेगा, और फिर पूछा कि क्या मैं ऐसा करूँगा या नहीं। मैंने उन्हें स्पष्ट रूप से बताया कि मैं चुप नहीं रहूंगा। उन्होंने मेरे वेबो (Weibo) खाते को सील कर दिया। मैंने अपने छात्रों से जो हुआ इसके बारे में बताया।”

नवंबर 2017 में एनटीडी (NTD) को प्रस्तुत “कैन वी रीअली लीव द पार्टी आउट ऑफ़ आर इकोनॉमिक रिसर्च (Can We Really Leave the Party Out of Our Economic Research)” नामक एक लेख में प्रोफेसर यांग ने इस बात को इंगित किया कि 20 मिलियन से अधिक पार्टी के अधिकारियों को बनाए रखने के लिए इस देश को लगभग 2 ट्रिलियन चीनी युआन (लगभग 291 अरब अमेरिकी डॉलर) का खर्च होता है।

यांग की टिप्पणियां पार्टी के अधिकारियों के भ्रष्टाचार और राज्य निधि के गबन को सामने लाता है।

इसके अलावा, पार्टी सचेत हो उठी जब वे चीन में प्रतिबंधित एक न्यूयॉर्क स्थित वैश्विक समाचार और मनोरंजन मीडिया एनटीडी (NTD) तक पहुंचे, जो फालुन गोंग—एक शांतिपूर्ण ध्यान अभ्यास जो 90 के दशक में पार्टी की पसंद के विरुद्ध बहुत अधिक लोकप्रिय हो गया—के उत्पीड़न के बारे में सच्ची खबरें प्रदान करता है।

शेनयांग, चीन, 1998 में ध्यान अभ्यास करते हुए फालुन गोंग अभ्यासी (©Minghui)

यांग के अब हटाए गए सिना (Sina) ब्लॉग पर प्रकाशित एक और विस्तृत विश्लेषण में, उन्होंने लिखा: “यदि कुछ नहीं बदलेगा, तो जिस समाज को अधिक सरकारी अधिकारियों को बनाए रखना होता है उसका अंत में  विनाश हो जाएगा।”

क्यों कि यांग के पास अब कोई मंच नहीं रह गया था जहाँ से वे चीन में अपनी आवाज़ पहुंचा सके, वे ट्विटर पर गए, जो वीपीएन (VPN) के बिना चीन में नहीं पहुंच सकता था, और ट्वीट किया: “जितना अधिक मैं सोचता हूं, उतना मैं और अधिक परेशान हो जाता हूं। सच्चाई को पाना मुश्किल है; सच बोलना मुश्किल है; और एक सच्चा व्यक्ति होना मुश्किल है। आतंक के बिना, स्वतंत्र रूप से खुद को व्यक्त करने में सक्षम होना, यह हमारा सपना है।”

यांग कम्युनिस्ट पार्टी के लिए बहुत लंबे समय तक एक कांटे की तरह चुभते रहे थे, और एनटीडी को भेजे गए उनके लेख सहित उनका आखिरी ट्वीट, बहुत स्पष्ट साबित हुआ।

प्रोफेसर यांग शाओजेंग (©Video Screenshot | NTD)

सिना (Sina) और वीचैट (WeChat) पर उनके ब्लॉग बंद कर दिए गए, उनकी कक्षाओं को चुप करा दिया गया, विश्वविद्यालय ने उन्हें निष्कासित कर दिया, उन्हें शिक्षण प्रदान करने से मना कर दिया गया, और उनकी अपीलों को नजरअंदाज कर दिया गया।

कुछ दिन पहले अगस्त 23 को प्रोफेसर यांग और उनके परिवार को शेन्ज़ेन लुओहू पोर्ट (Shenzhen Luohu Port) में चीन-हांगकांग सीमा पर रोक दिया गया था जब वे अपने रिश्तेदारों से मिलने जा रहे थे। उन्हें “एक बड़े अपराध” के लिए रोक लिया गया था और उन्हें देश से बाहर निकलने से मना कर दिया गया था।

यांग ने द एपोक टाइम्स (The Epoch Times) को बताया, “कई कारणों में से एक यह था कि मैंने विदेशी प्रतिक्रियात्मक मीडिया से साक्षात्कार स्वीकार किए।”

“रिएक्शनरी मीडिया” किसी भी गैर-राज्य-नियंत्रित मीडिया, जैसे रेडियो फ्री एशिया और एनटीडी के लिए पार्टी शब्दकोष है, जो चीनी शासन के भ्रष्टाचार और मानवाधिकारों के दुरुपयोग पर सच्चाई से रिपोर्ट करते हैं।

सर्वसत्तावादी प्रणाली के तहत सच्चाई से बोलने के लिए प्रोफेसर यांग की चल रही लड़ाई देश के 1.3 अरब लोगों की दुर्दशा को उजागर करती है … और यह सवाल उठाती है कि उन्हें बोलने की स्वतंत्रता कब दी जाएगी।

और यदि आप सोचते हैं कि चीनी शासन केवल अपने नागरिकों को चुप करने की कोशिश कर रहा है, तो फिर से सोचें।

क्लाइव हैमिल्टन (Clive Hamilton) के साथ नीचे साक्षात्कार देखें:

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds