सच्ची घटना पर आधारित, इस लघु फिल्म में मनोवैज्ञानिक खौफ के सभी तत्व मौजूद हैं जो बेशक बहुत ही गंभीर संदेश दे रहे है। रेवेज (Ravage) चौंकाने वाली सच्ची घटना पर आधारित एक पुरस्कृत फिल्म है, जिसमें मुख्य भूमिक कनाडा की खूबसूरती की मल्लिका अनेस्तेसिया लिन (Anastasia Lin) ने निभाया है—यह फिल्म आधुनिक चीन की काली सच्चाई को बयां करती है।

Credit: Flying Cloud Productions

पीबॉडी पुरस्कार (Peabody Award) विजेता निर्देशक, लीओन ली (Leon Lee) ने इस फिल्म को बनाया है, जो एक भयानक, उलटी दुनिया को उजागर करते है जहां क्रूरता और अन्याय का राज़ है। यह फिल्म चीन में साल 2000 से हो रहे अंग प्रत्यारोपन के अपराध को उजागर करती है। यह पूरा नर संहार राज्य द्वारा स्वीकृत है, मतलब कि चीनी कम्युनिष्ट पार्टी द्वारा वित्त पोषित, और पीड़ित बड़ी संख्या में फालुन दाफा ध्यान प्रणाली का अभ्यास करने वाले, आस्था में विश्वास करने वाले मासूम हैं, इसके अलावा तिब्बती, इसाई और यूघर्स (Uighurs) भी हैं।

चीनी-कैनेडियन अभिनेत्री और मिस वर्ल्ड कनाडा 2015, अनेस्तेसिया लिन (Anastasia Lin), ने इसमें पीड़िता की भूमिका निभाई है—एक मिडिल स्कूल की एक 30 साल की शिक्षिका जिन्हें Falun Dafa का अभ्यास करने की वजह से गिरफ्तार कर लिया गया। परिवार से दूर, इस युवा महिला को, उनकी आस्था की वजह से, सख्त अत्याचार, यौन उत्पीड़न और ब्रेनवॉश जैसी तमाम यातनाएं झेलनी पड़ी। फिल्म के दृश्य वहां मौजूद एक निडर गवाह के संस्करण के साथ है, जो अपनी अंतरात्मा को स्वच्छ करने के लिए आगे आए हैं।

Credit: Flying Cloud Productions

मिस. लिन की भूमिका दिल को छू लेने वाली है क्योंकि उन्होंने एक ऐसी महिला की भूमिका अदा की है जिसे अपने जीवन और अंतरात्मा में से किसी एक को चुनना था जब वह निर्दयी डॉक्टरों के शिकंजे में पड़ जाती है। लाल रंग के एक गुप्त कमरे में सीमित, चीनी श्रम शिविर के बहुत अंदर, इस फिल्म में उनकी मनोदशा को दर्शाया गया है, क्योंकि उन्हें उनका विश्वास छोड़ने के लिए विवश किया जा रहा था। चुकि उन्हें शारीरिक और मानसिक दोनों तरह की यातनाएं दी जा रही थी, खुद को और “मज़बूत बने रहने” के लिए कहते हुए, वह सभी दर्द को सह रही थी।

फिल्म में दिल को छू लेने वाला एक दृश्य भी है, जब वह अपनी बेटी की तस्वीर लिए यह कहते हुए रोती हैं कि, “मां आपसे प्यार करती हैं, खुश रहो और अच्छी रहो,” और “मां ने आपके लिए जीवित रहने की कोशिश की।” इस दृश्य का मतलब है कि उनका अंतिम क्षण आने वाला है और आगे जो हुआ निश्चित रुप से कमज़ोर दिल वालों के लिए नहीं है।

Credit: YouTube screenshot via Films for Freedom

जैसा कि वे अपनी तरफ आते मनहूस कदमों की आहट सुनती हैं, दर्शकों के सामने जो सवाल उभरता है वो ये कि, “क्या वो अपने विश्वास पर कायम रह पाएंगी या फिर वे उनके दिल और आत्मा को पूरी तरह से तोड़ने में सफल होंगे?”

वैंकूवर (Vancouver) फिल्म निर्माता लिओन ली ने सोचने पर मजबूर करने वाली लघु फिल्में बनाई हैं जिसे चीनी सीमा के भीतर नहीं कहा जा सकता। उनकी एक लघु फिल्म ह्युमन हार्वेस्ट (Human Harvest), जो कि साल 2014 में आई थी, उसमें चीन में जबरन अंग प्रत्यारोपण की बात को दर्शाया गया था। इसे 25 से भी अधिक देशों में प्रदर्शित किया गया और दुनियाभर के करोड़ों से भी अधिक दर्शकों ने देखा।

Credit: Miss World Canada, 2016 (Credit: Anastasia Lin)

मिस. लिन, जो कि इस फिल्म की मुख्य नायिका हैं, वह एक खूबसूरत निडर महिला हैं जिन्होंने चीन में होने वाले मानवाधिकार के उल्लंघन के बारे में दुनिया को जागरुक करने के लिए अपने मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल किया। जन्म से ही अपने देश की आलोचक, मानवाधिकार समुदाय में आज वे सबसे मान्यता प्राप्त आवाज़ों में से एक हैं।

पुरस्कार विजेता लघु फिल्म नीचे देखें :


फालुन दाफा (जिसे फालुन गोंग के नाम से भी जाना जाता है) एक आत्मसुधार ध्यान प्रणाली है जो कि सच्चाई, करुणा और सहनशीलता के सार्वभौमिक सिद्धांतों पर आधिरित है। ली होंगज़ी (Li Hongzhi) द्वारा 1992 में चीन में इसके बारे में लोगों को बताया गया। फिलहाल 114 देशों में करोड़ों लोग इसका अभ्यास कर रहे हैं। लेकिन इस शांतिपूर्ण ध्यान प्रणाली को 1999 से ही चीन में बुरी तरह से प्रताड़ित किया जा रहा है। ज्यादा जानकारी के लिए कृपया इन साइट्स पर जाएं : www.FalunDafa.org and www.FalunInfo.org

अगर आपको हमारी यह कहानी अच्छी लगी तो कृपया इस लाइक और शेयर जरुर करें।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds