क्या आपने कभी भी भूखे रहने की कठिनाई का अनुभव किया है? कुछ बच्चे विद्यालय में दोपहर के भोजन के लिए सर्वश्रेष्ठ भोजन लेकर जाते होंगे पर यह गरीब लड़का उपयुक्त खाना वहन नहीं कर सकता था—वह केवल चावल और अस्वास्थ्यकर खाद्य का मिश्रण ही वहन कर सकता था। उनकी दुर्दशा हमें बताती है कि हमें हमारे पास जो भी है उसे संजोना चाहिए क्योंकि कुछ बच्चों के पास कुछ भी नहीं होता है।

हालांकि अधिकतर माता-पिता अपने बच्चों के लिए सर्वश्रेष्ठ चाहते हैं, आर्थिक भार कभी-कभी जीविका के साधारण साधनों को प्रदान करने की उनकी क्षमता में भी खिंचाव उत्पन्न करता है। कभी-कभी उनके पास अपने बच्चों को उपयुक्त खाना न देने के अलावा कोई विकल्प नहीं रह जाता है।

ऐसा ही एक मामला फिलीपींस (Philippines) के एक छात्र का है, जिनके माता-पिता को परिवार के खर्च की पूर्ति करने में संघर्ष करना पड़ता है।

©Facebook | Choniil Mascariñas

एक दिन विद्यालय की एक शिक्षिका, चोनील मस्करीनास (Choniil Mascariñas) ने देखा कि उनका एक विद्यार्थी दोपहर के भोजन के लिए चावल के साथ अस्वास्थ्यकर खाद्य पदार्थ को मिश्रित कर खा रहा था। उन्होंने जो देखा उससे वे अचंभित रह गईं और लड़के से इस विषय में सवाल किए।

वह लड़का अपनी दयनीय स्थिति के लिए लज्जित था पर चोनील को उन्होंने हृदय को छू जाने वाला जवाब दिया कि वे बिडा (Bida) और सुपर क्रंच (Super Crunch) जैसे स्नैक्स जुटा नहीं सकते क्योंकि उन्हें रोज़ घर से केवल 3 फिलीपीन पीसो (Philippine pesos) (यूएसडी $0.17) ही मिलते हैं।

©Facebook | Choniil Mascariñas

जब उनसे पूछा गया कि उनका परिवार उन्हें दोपहर के भोजन के लिए सूखी मछली क्यों नहीं दे पाता तो शर्मसार प्रश्न से बचने के लिए उसने अपने कंधे उचका दिए।

बाद में चोनील को पता चला कि लड़के का परिवार अपनी दैनिक आय यूलिंग (चारकोल) बनाकर और बेचकर अर्जित करते हैं, एक कार्य जिससे अधिक धन प्राप्त नहीं होता है। अपनी आजीविका को बनाए रखने के लिए वे इस मामूली आय पर निर्भर करते हैं।

चोनिल ने अपने विद्यार्थी के संघर्ष को विस्तृत रूप से दिखाने के लिए लड़के को दोपहर के भोजन के लिए दीन अस्वास्थ्यकर खाद्य खाते हुए  तस्वीरें अपने फेसबुक (Facebook ) पृष्ठ पर डालीं।

Source: Facebook | Choniil Mascariñas

लड़के की स्थिति ने उन कई इंटरनेट उपयोगकर्ताओं के दिलों को झकझोर दिया, जिन्होंने अपने मित्रों और रिश्तेदारों को यह दिखाने के लिए कि वे कितने भाग्यशाली थे उन्हें टैग किया था। वे गरीब बच्चे की सहायता के लिए धन और राशन के रूप में सहायता का प्रस्ताव लेकर आगे भी आए जिससे कि वो विद्यालय में एक पोषणपूर्ण भोजन को वहन करने में सक्षम हो सके।

हालांकि उनकी सहायता से बच्चे को अस्थायी आराम ही प्राप्त होगा, फिर भी यह दिल को छू लेने वाली बात है कि दयालु लोग भी हैं जो परवाह करते हैं।

©Facebook | Choniil Mascariñas

ईनफ फूड फाॅर एवरीवन आईएफ (Enough Food For Everyone IF), भूख से लड़ने के लिए अभियान, के अनुसार प्रति 10 सेकण्ड में भूख से एक बच्चे की मृत्यु हो जाती है।

“प्रत्येक दिन के प्रति मिनट में भूख से चार बच्चों की मृत्यु होती है,” एडी इज़र्ड (Eddie Izzard), आईएफ (IF) के प्रचार वीडियो में से एक अंग्रेज़ी स्टैंड-अप हास्य कलाकार ने कहा।

विश्व में लोगों को एक दूसरे के प्रति अधिक संवेदना के साथ पेश आना चाहिए और अपने पड़ोसियों, भाईयों और बहनों की सहायता करनी चाहिए—और फिर शायद हम गरीबी में रहने वाले ऐसे निराहार बच्चों की दुर्दशा का अंत करने में एक कदम समीप आ सकेंगे।

हमें हमारे पास जो है उसके लिए भी कृतज्ञ होना चाहिए क्योंकि विश्व में अन्यत्र कई बच्चों के पास कुछ भी नहीं है।

वीडियो देखें:

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds