कहते हैं संगीत एक साधना है, एक ऐसी साधना जो इंसान तो क्या किसी भी जीव को अपने सुरों के माध्यम से मंत्रमुग्ध कर देती है। संगीत प्रेमियों का एक ऐसा ही जमावड़ा दिल्ली के विजय चौक पर लगता है। इन लोगों में कुछ सुरों की भाषा सीखने आते हैं, तो कुछ सुरों को महसूस करने आते हैं।

दरअसल, इन सभी लोगों के यहां एकजुट होने के पीछे एक मात्र कारण “एस. वी. राव” की म्यूज़िक क्लास है, जहां वे मात्र रुपये एक की मामूली कीमत अदा कर संगीत की शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं। एस. वी. राव प्रत्येक दिन दिल्ली के दो स्थानों पर लोगों को संगीत की शिक्षा देते हैं। 

एक तरफ जहां आंध्रभवन के फुटपाथ पर स्थानीय लोगों के लिए राव की संगीत की क्लास लगती है, तो दूसरी ओर हर रोज़ दोपहर दो बजे के करीब विजय चौक पर राव आस-पास काम करने वाले लोगों को सुरों की भाषा सिखाते हैं। 

ऐसा करने के पीछे एस.वी. राव का एक मात्र मक़सद यह है कि उनकी कक्षा में संगीत सीखने वाले लोग कम से कम एक शख्स को संगीत की शिक्षा अवश्य दें और सुरों की धारा को यूं ही आगे बढ़ाएं।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds