परिस्थितियां चाहे जो भी हों लेकिन एक मां अपने बच्चों की देख-रेख हर हाल में करती है। विषम परिस्थितियों से जूझते हुए मुंबई की यह मां बच्चों की जिंदगी संवारने के बाद लोगों के हाथों पर मेहंदी लगाने के बिजनेस में लगी हुई हैं।

ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे से बात करते हुए उन्होंने बताया कि “मेरे सभी बच्चे आज अच्छी नौकरी कर रहे हैं। मैंने भी मेहंदी लगाने का एक बिजनेस शुरु कर दिया है। मेहंदी लगाने के लिए मैं अमुमन देश के सभी क्षेत्रों में घूम चुकी हूं। गोवा मुझे बहुत अच्छा लगा।”

अपनी जिंदगी की कठिन परिस्थितियों के बारे में बात करते हुए उन्होंने बताया, “मेरे पति मुझे और चार बच्चों के छोड़कर किसी दूसरी महिला के साथ चले गए। उसके बाद बच्चों के परवरिश की जिम्मेदारी मेरे कंधों पर थी। अपना और बच्चों का पेट पालने के लिए उन दिनों मैने दूसरों के घरो में काम करना शुरु कर दिया।”

“जितना हो सकता था मैं उतने घरों में काम करती थी। इस तरह मैने किराए के कमरे का बंदोबस्त कर लिया, जिसके लिए मुझे महीने के पांच हज़ार रुपये देने होते थे। मैने अपने सभी बच्चों को पढ़ा-लिखाकर बड़ा किया। अब सभी बच्चे बड़े हो गए हैं और अच्छी नौकरी करते हैं। इससे बढ़कर जिंदगी में और क्या चाहिए? भगवान सच में बहुत दयालु हैं।”

Heena Art Creative Bride Wedding Henna Meh
प्रतिकात्मक तस्वीर

बच्चों की जिंदगी सवांरने के बाद भी इस मां ने काम करना नहीं छोड़ा। और मेहंदी लगाने के अपने हुनर का इस्तेमाल कर उन्होंने एक छोटा-सा व्यापार शुरु किया। अपने इस व्यापार के सिलसिले में यह मां देशभर के अमुमन हर शहर में यात्रा करती हैं।

आज इस पांच सदस्यों वाले परिवार में खुशियों की बहार है। बच्चों को जहां अपनी मां पर फक्र है, तो वहीं मां भी अपने बच्चों की सफलता देख गर्व महसूस करती हैं।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds