वर्ष 2009 में आई राजकुमार हिरानी की फिल्म 3-इडियट्स के किरदार “फुंसुक वांगड़ू” ने हर उम्र वर्ग के लोगों का दिल जीत लिया था। यह एक ऐसा किरदार है जिसे याद कर आज भी लोग मुस्कुराने लगते हैं। खैर, ये बात तो रील लाइफ वांगड़ू की है। लेकिन हम यहां आपको रियल लाइफ के फुंसुक वांगड़ू से मिलवाने जा रहे हैं, जिन्हें एशिया का नोबल पुरस्कार कहे जाने वाले “रमन मैग्सेस अवार्ड” से नवाज़ा गया है। 

1. शिक्षा के क्षेत्र में अनोखी पहल की शुरुआत की!

Credit:RMTLI

असल ज़िंदगी के इस फुंसुक वांगड़ू का नाम वास्तव में “सोनम वांगचुक” है, जिसका शाब्दिक अर्थ “शक्तिशाली शिव” है। एक टीवी शो में दिए इंटरव्यू में सोनम ने अपने नाम का अर्थ बताया था। सोनम ने उत्तर भारत के लद्दाख में शिक्षा की एक अनोखी पहल की शुरुआत की, जिससे वहां की जनता और युवाओं की जिंदगी में बहुत बदलाव आया।

2. क्यों मिला एवार्ड?

Credit: RMTLI

समाज के प्रति सोनम के इसी पहल को देखते हुए उन्हें वर्ष 2018 के रमन मैग्सेस अवार्ड के लिए चुना गया। रमन मैग्सेस फाउंडेशन ने इस संबंध में कहा है, “वर्ष 2018 के रमन मैग्सेस अवार्ड के लिए भारत के सोनम वांगचुक को चुने जाने के पीछे समाज में एक अलग तरह की पहल और उत्तर भारत के लद्दाख में युवाओं और जनता के जीवन में बदलाव लाने वाले शिक्षा की पहल को देखते हुए किया गया है।”

सोनम की इस पहल से वहां के युवाओं को अवसर मिला है। इस पहल ने विज्ञान, सांस्कृतिक और आर्थिक विकास में एक अहम योगदान दिया है। साथ ही दुनिया में अल्पसंख्यक लोगों के लिए एक मिसाल पेश की है।

3. शिक्षा के क्षेत्र में करते हैं काम!

Credit: secmol.org

पेशे से इंजीनियर, सोनम अब शिक्षा के क्षेत्र में काम करते हैं। श्रीनगर के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी से इंजीनियरिंग करते हुए उन्होंने स्कूली बच्चों के लिए काम करना शुरू कर दिया था। उस वक्त वांगचुक मात्र 19 वर्ष के थे। वांगचुक पहली बार वर्ष1988 में चर्चा में आए थे, जब उन्होंने स्टूडेंट्स एजूकेशनल एंड कल्चरल मूवमेंट ऑफ लद्दाख (SECMOL) नाम की संस्था शुरू की थी।

4. वांगचुक के स्कूल में सौर ऊर्जा से चलता है काम!

timken-and-secmol-signing-mou
Credit: secmol.org

यह संस्थान एजूकेशन सिस्टम को आसान बनाना के सिद्धांत पर विश्वास करती है। वांगचुक ने अपने स्कूल कैंपस में सौर ऊर्जा की व्यवस्था की है। उन्होंने लकड़ी, कोयला या किसी भी ऐसे ईंधन के उपयोग पर रोक लगाई है जो पर्यावरण को नुकसान पहुंचाता हो।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds