जनजातिय बच्चों के जीवन में शिक्षा की अलख जगाने के लिए कोलकाता ट्राफिक पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल अरूप मुखर्जी ने एक मॉडल स्कूल खोला है, जहां इन बच्चों को मुफ्त में शिक्षा प्रदान की जाती है।

कॉन्स्टेबल ने यह स्कूल पुर्लिया ज़िले के पुंचा क्षेत्र में खोला है और इसका नाम “पुंचा नाबादिशा मॉडल स्कूल” दिया है। इस स्कूल में क्षेत्र के जनजातिय बच्चों को शिक्षा प्रदान की जाती है। समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए मुखर्जी ने बताया, मैने यह स्कूल 15-20 छात्रों के साथ शुरु किया था और आज इस स्कूल में 1000 के करीब छात्र शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं।

उन्होंने यह भी बताया कि प्रत्येक माह करीब 45,000 खर्च करने के बावजूद वे छात्रों को बेहतर भोजन उपलबद्ध नहीं करा पाते हैं। जिसका मुखर्जी को बहुत मलाल है। हालांकि, छात्रों के मुँह से डैडी और बाबा सुनकर उन्हें बहुत खुशी होती है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds