घर के माहौल का असर बच्चों के व्यक्तित्व पर भी ज़रूर पड़ता है। घर का माहौल यदि सकारात्मक रहेगा, तो बच्चे सकारात्मक बाते सीखेंगे और यदि माहौल अनुकल नहीं रहेगा, तो बच्चों के मस्तिष्क पर भी बुरा असर होगा। वो कहते हैं न, प्राथमिक शिक्षा तो घर पर ही पूरी होती है। ये बात मुंबई का यह परिवार बखूबी जानता है।

ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे के अनुसार बच्ची के चौथे जन्मदिन के अवसर पर जब परिजनों ने उससे पूछा कि “जन्मदिन के मौके पर वह क्या करना चाहती है?” तो बच्ची ने जवाब दिया, “चलो फुटपाथ पर रहने वाले बच्चों संग जन्मदिन का केक साझा किया जाए।”

ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे से बात करते हुए बच्ची की मां ने कहा, “उसकी बातें सुनकर हमें बहुत खुशी हुई। हमने दहिसर से लेकर कांदिवली तक फुटपाथ के बच्चों में करीब 700 कप केक वितरित किये। इस दौरान वह चारो तरफ देख रही थी कि कहीं कोई बच्चा केक पाने से छूट तो नहीं गया है।”

Muffins, Baked, Pastries, Cup Cake
प्रतिकात्मक तस्वीर

उन्होंने बताया, “जब मैं छोटी थी तो मेरे परिवार में कुछ भी बर्बाद नहीं होने देने की नीति चलती थी। उस दौरान खाने के दौरान यदि हम से सब्जी आदि छूट जाती थी, तो हमें बहुत डांट पड़ती थी। यही नहीं, नई चीज़ें खरीदने से पहले हमें अपनी पुरानी चीज़ दान करनी होती थी। अपनी बच्ची में भी मैं ये सभी संस्कार देना चाहती हूं और कोशिश करती हूं कि वह एक अच्छा इंसान बने!”

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds