जुगाड़ के मामले में भारतीयों का कोई तोड़ नहीं। अपनी आवश्यक्ता अनुसार हम भारतीय चीज़ों का जुगाड़ कर ही लेते हैं। कुछ ऐसा ही जुगाड़ का वाशिंग मशीन मध्यप्रदेश के एक गांव के छात्र ने बनाया है, जिसे चलाने के लिए बिजली की भी आवश्यकता नहीं है।

दी बेटर इंडिया के अनुसार, मध्यप्रदेश के पंढ़ुर्णा के सरकारी स्कूल के 14 वर्षीय, आठवीं कक्षा के छात्र “दर्शन कोल्हे” ने बिजली के बिना चलने वाली वाशिंग मशीन बनाई है। इसके लिए उन्होंने एक पुरानी साइकिल और रिसाइकिल गैलन का इस्तेमाल किया है। इस मशीन को चलाने के लिए बस पैडल मारने होंगे।

Credit: Youtube

दरअसल साइकल की चैन गैलन में लगे ग्रिल से जोड़ी गयी है। गैलन के अंदर भी कपड़ों को घुमाने के लिए ग्रिल लगाया गया है। गैलन में कपड़े और डिटर्जेंट पाउडर डालने के बाद आपको बस साइकिल की पैडल को घुमाना होगा और आपके कपड़े धुलकर साफ हो जाएँगे।

मशीन कैसे काम करती है इसका पूरा विवरण दर्शन ने इस वीडियो में दिया है…

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds