वो दौर पीछे छूट गया जब महिलाएं चुल्हा-चौके तक ही सीमित थीं,। आज के दौर में महिलाएं पुरुषों के समकक्ष कदम से कदम मिलाकर चल रही है। चाहे वो घर चलाने की बात हो या फिर ऑफिस की, सड़क पर कार चलाना हो या आसमान में हवाई-जहाज़ उड़ाने की बात, महिलाओं ने हर क्षेत्र में अपनी उपलब्धता दर्ज कराई है। सरकार भी महिला सशक्तिकरण के लिए हर संभव प्रयास कर रही है।

महिला सशक्तिकरण को एक कदम और आगे बढ़ाते हुए “सेंट्रल रेलवे” ने एक विशेष पहल की शुरुआत की है, जिसके तहत सेंट्रल रेलवे के “माटुंगा” रेलवे स्टेशन पर केवल महिला कर्मचारियों को तैनात किया गया है।

1. हर तरफ दिखेंगी महिला कर्मचारी!

Image result for माटुंगा रेलवे स्टेशन
Credit: PerformIndia

दरअसल, सेंट्रल रेलवे ने “माटुंगा” रेलवे स्टेशन को देश का पहला “लेडीज स्पेशल” स्टेशन बना दिया है। यानि कि इस स्टेशन पर आपको सिर्फ और सिर्फ महिला कर्मचारी ही दिखेंगी। टिकट काउंटर से लेकर टिकट चेकर तक हर जगह महिला कर्मचारियों को तैनात किया गया है। खास बात यह है कि अपनी इस विशिष्टता की वजह से इस स्टेशन का नाम “लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड” में भी दर्ज किया गया है।

2. कुल 41 महिलाकर्मी तैनात हैं!

Image result for माटुंगा रेलवे स्टेशन
Credit: Womenia

बता दें कि फिलहाल इस स्टेशन पर कुल 41 महिलाकर्मी तैनात हैं। मुंबई मिरर की एक खबर के अनुसार पिछले साल जनरल मैनेजर, जी.के. शर्मा की कोशिशों से सेंट्रल रेलवे ने 34 महिलाओं की नियुक्ति की थी, जिसमें स्टेशन मैनेजर, पॉइंट पर्सन, बुकिंग स्टाफ, टिकट चेकर, आदि सभी पदों पर महिला कर्मचारी तैनात हैं।

4. अच्छे से निभा रही हैं अपनी जिम्मेदारियां!

Related image
Credit: Jagran

इस संबंध में सेंट्रल रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि, देश की महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए उनकी तरफ से यह एक छोटी सी पहल है। जिसके तहत माटुंगा रेलवे स्टेशन को पूरी तरह से मिहलाओं को सौंप दिया गया। उन्होने कहा कि हमारी ये पहल रंग लाई और महिलाकर्मी स्टेशन को अछी तरह संभाल रही हैं।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds