मैदान पर शानदार चौके-छक्कों की बरसात करने वाले क्रिकेटर्स, अपनी बॉल से सामने खड़े बैट्समैन की गिल्लियाँ उड़ा देने वाले क्रिकेटर्स, अपनी फिल्डिंग से दर्शकों को हक्क-बक्का कर देने वाले क्रिकेटर्स को तो आपने देखा ही होगा। लेकिन क्या आपको पता है कि लग्जरी जिंदगी और विपक्षी टीम की खस्ताहाल करने वाले क्रिकेटर्स पिच के बाहर क्या करते हैं?

पिच के बाहर ये क्रिकेटर्स किसी न किसी तरह से अपने समाज की सहायता कर रहे हैं। अपने आस-पास के उन लोगों की ओर मदद का हाथ बढ़ा रहे हैं जिन्हें इसकी जरूरत है।

तो आइए, आज हम आपको भारतीय टीम के ऐसे तीन धुरंधरों के बारे में बताने जा रहे हैं जो क्रिकेट फील्ड के बाहर अपने नेक काम के लिए जाने जाते हैं।

1. सचिन तेंदुलकर!

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर “अपनालय” नाम के एनजीओ से जुड़े हुए हैं। सचिन प्रत्येक वर्ष कुछ ऐसे बच्चों की जिम्मेदारी लेते हैं जिनके माता-पिता उन्हें पढ़ाने में सक्षम नहीं होते। वे उनकी पढ़ाई का खर्चा वहन करते हैं। कुपोषित बच्चों के लिए बनी संस्था “हंगर फाउंडेशन” (Hunger foundation) के प्रमोशन में ये उनका साथ देते रहते हैं।

2. युवराज सिंह!

 

वर्ष 2011 के वर्ल्ड कप के बाद युवराज को कैंसर का पता चला था। इसके इलाज के लिए वे अमेरिका (America) गए और वहाँ से स्वस्थ्य होकर आए तो फिर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी की। इन्होंने “यू वी कैन” (You we can) नाम का एक फाउंडेशन बनाया है जो लोगों के बीच कैंसर को लेकर जागरूकता फैलाता है। वे मानते हैं कि अगर किसी को कैंसर है और इसका पता समय रहते चल जाता है तो उसका इलाज संभव है।

3. विराट कोहली!

सुविधा से वंचित लोगों की सहायता के लिए विराट एक “विराट कोहली फाउंडेशन” (Virat Kohli foundation) चलाते हैं। यह फाउंडेशन उन बच्चों की शिक्षा से लेकर उनके खेल आदि का ध्यान रखता है। कोहली इन बच्चों के साथ कभी-कभी समय भी बिताते हैं। उनकी सहायता के लिए वे चैरिटी मैच का आयोजन भी करते हैं जैसा उन्होंने जून 2016 में “सैलिब्रिटी क्लासिको 2016” (Celebrity Clasico 2016) के नाम से चैरिटी फुटबॉल मैच का आयोजन किया था।

इनके आलावा दुनिया में ऐसे कई क्रिकेटर्स हैं जो लोगों की सहायता के लिए आगे आते हैं। मुथैया मुरलीधरन, रिकी पोंटिंग, इमरान खान, शाहिद अफरीदी और स्टीव वॉ जैसे कई क्रिकेटर्स हैं जो इन नेक कामों में खुद को आगे रखते हैं।

Share