चेहरे के भयानक ट्यूमर के साथ 7 साल के इस पाकिस्तानी लड़के को, शुक्र है, मदद मिल गई। बॉक्सिंग सुपर स्टार आमिर खान आखिरकार इसके बचाव के लिए आगे आए और उन्होंने इसके जीवन रक्षक उपचार का भुगतान करने की पेशकश की।

कुछ माह पूर्व, मेल ऑनलाइन (MailOnline) पर उनकी दुर्दशा के बारे में पढ़ने के बाद, पूर्व बॉक्सिंग विश्व चैंपियन ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज के माध्यम से अली हसन (Ali Hassan) की और अधिक जानकारी के बारे में पूछा, जिसका ट्यूमर ख़तरनाक़ रुप से फैल रहा था।

अली के पिता मुहम्मद मंशा (Muhammad Mansha) से खान ने व्यक्तिगत तौर पर बात की और कहा कि वे इनकी मदद करेंगे और अपने चैरिटेबल फाउंडेशन के माध्यम से ट्यूमर  हटाने वाले सर्जरी का भुगतान करेंगे।

बोलट्न (Bolton) में जन्में मुक्केबाज़, जिन्हें अपनी पाकिस्तानी विरासत पर गर्व है, ने अपने 4 लाख फेसबुक फॉलोवर्स से कहा कि, “पाकिस्तान में मैने उसके पिता से बात की और कहा कि आमिर खान फाउंडेशन उनकी मदद करेगा।”

दिल को छू लेने वाले इस पोस्ट ने 11 हज़ार से अधिक लाइक्स पाए और स्टार (आमिर खान (बॉक्सर)) के पास सैकड़ों भावुक अजनबियों के टिप्पणियों की भरमार लग गई जो किसी भी तरह से उसकी (अली हसन की) मदद करना चाहते थे, जितना वो कर सकते थे।

 

अली हसन को रेटिनोब्लास्टोमा (retinoblastoma) हुआ है। ट्यूमर ने उसकी आंख और चेहरे को घेर लिया है।

And it can be revealed today that Mr Khan has told Ali

अप्रैल में बट्टेरसी इवॉल्यूशन (Battersea Evolution) में बीटी स्पोर्ट्स इंडस्ट्री अवार्डस (BT Sports Industry Awards) के दौरान रेड कारपेट पर आमिर खान की तस्वीर खिंची गई।

द आमिर खान फाउंडेशन की शुरुआत साल 2014 में हुई और दुनियाभर के गरीब इलाकों के युवाओं के मदद के लिए बनाया गया ताकि उन्हें स्कूल और स्वच्छ पीने का पानी उपलब्ध कराया जा सके।

लेकिन अली, जो कि पाकिस्तान के पूर्वी क्षेत्र के सुदूर गांव से है, के बारे में जानने के बाद खान ने और भी बातों में मदद करने की सोची।

मोहम्मद मंशा ने लाहौर में अपने बच्चे के इलाज़ के लिए बहुत लोगों से प्रार्थना की जहां संसाधन सीमित है।

बोलट्न के जन्में मुक्केबाज़, जिन्हें अपने पाकिस्तानी विरासत पर गर्व है, ने अपने 4 लाख फेसबुक फॉलोवर्स से कहा कि, “पाकिस्तान में मैने उसके पिता से बात की और कहा कि आमिर खान फाउंडेशन उनकी मदद करेगा।”

 

Share