टीवी धारावाहिक ‘महाकाली- अंत ही आरंभ है’ में दानव की भूमिका निभाकर अभिनेता विनीत कक्कड़ खुद को भाग्यशाली मानते हैं।

आईएनएस के अनुसार, इससे पहले इन्होंने “विध्नहर्ता गणेश”, “संकटमोचन महाबली हनुमान” जैसे पौराणिक धारावाहिक में काम किया है।

एक बयान में कक्कड़ ने कहा कि वे मधु नामक दानव की भूमिका निभा रहे हैं जो उन में से एक है जो ब्रह्मा को मिटाने के लिए पैदा हुआ था। लेकिन ब्रह्मा उन्हें पहचान लेते हैं और देवी महामाया का आव्हाम करते हैं।

Credit: IANS

कक्कड़ ने ‘विध्नहर्ता गणेश’, ‘संकटमोचन महाबली हनुमान’ जैसे पौराणिक धारावाहिकों में काम किया है। उन्होंने कहा, “मैं मधु की भूमिका निभा रहा हूं। वह उन राक्षसों में से एक है जो ब्रह्मा को मिटाने के लिए पैदा हुआ था। हालांकि, ब्रह्मा उन्हें पहचान लेते हैं और देवी महामाया का आह्वान करते हैं।”

उन्होंने आगे कहा, विष्णु जागते हैं और साजिश करने वाले दानव और उनके भाई का वध कर देते हैं। यही कारण है कि विष्णु को मधुसूदन कहा जाता है। मधुसूदन का अर्थ है मधु का वध करने वाला। विनीत खुद को शो का हिस्सा बनाकर भाग्यशाली मान रहे हैं।

उन्होंने कहा, मैं लोगों का धन्यवाद करता हूं कि वे मेरे असुर पात्र का आनंद ले रहे हैं, क्योंकि मैंने ऐसी भूमिकाएं बहुत से पौराणिक शो में निभाई है।

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds