आधुनिकता की माँग कर रहे भारतीय समाज में आज भी कई चीजें जो इंसानी रूह से जुड़ी है उसे गलत माना जाता है। उन्हीं में से एक है मोहब्बत करना। अब यह एक विचारनीय प्रश्न है कि आखिर मोहब्बत जैसे पवित्र रिश्ते से दो परिवारों के बीच किस प्रकार खाई बन जाती है। लेकिन प्यार के वे दो सच्चे पंछी अपने लिए रास्ता निकाल ही लेते हैं। आज हम आपको एक ऐसी ही प्रेम कहानी बताने जा रहे हैं जो भारत के पूर्व कप्तान और उनकी पत्नी डोना गाँगुली की है।

Credit: Instagram

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गाँगुली और उनकी पत्नी डोना गाँगुली बचपन में पड़ोसी हुआ करते थे और दोनों बचपन से ही एक-दूसरे को पसंद करते थे। लेकिन दोनों के परिवार के बीच सबकुछ ठीक नहीं था, उनका आपसी कलह था। गाँगुली जहाँ सेंट जेवियर्स में पढ़ते थे वहीं डोना लोरेटो कॉन्वेंट में पढ़ती थीं।

डोना से मिलने और उन्हें एक नजर देखने के लिए गाँगुली अपना स्कूल खत्म होते ही उनकी स्कूल की ओर दौड़ लगाते थे। 12वीं तक जाते-जाते दोनों अपने प्यार के बारे में गंभीर हो गए। समय के साथ-साथ दोनों ने अपने-अपने करियर की ओर भी ध्यान देना शुरू कर दिया। गाँगुली का चुनाव भारतीय टीम में हो गया और डोना उड़ीसी नर्तिका बनने के अपने सपने को पूरा करने में जुट गईं।

Credit: Instagram

गाँगुली ने क्रिकेट में अच्छा नाम कमाया और फिर कुछ सालों के बाद दोनों ने कोर्ट मैरिज कर ली। अगस्त 12, 1996 को दोनों शादी के बंधन में बंध गए, लेकिन मीडिया और परिवार को इस बात का पता न चले इसिलिए दोनों ने इस बातो को छुपाकर रखा। लेकिन आखिर कब तक!

एक दिन दोनों के परिवार वालों को इस बात का पता चल ही गया। पहले तो वे इस बात से दुःखी हुए, लेकिन बाद में दोनों परिवारों ने इस बात को और अपने बच्चों की खुशियों को कबूल कर लिए और फरवरी 21, 1997 को दोनों का पारंपरिक विवाह का आयोजन किया गया। अब दोनों की एक बेटी हैं जिनका नाम सना गाँगुली है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds