बर्तन बैंक: गुरुग्राम की महिला ने शुरु की पर्यावरण को प्लास्टिक मुक्त बनाने की एक अनोखी पहल!

बर्तन बैंक: गुरुग्राम की महिला ने शुरु की पर्यावरण को प्लास्टिक मुक्त बनाने की एक अनोखी पहल!

पर्यावरण को प्लास्टिक मुक्त बनाने के लिए देशभर में कवायद शुरु हो चली है। उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश आदि राज्यों में प्लास्टिक प्रतिबंधित होने के बाद अब महाराष्ट्र सरकार ने भी प्रदेशभर में प्लास्टिक पर बैन लगा दिया है। तो वहीं ...

UP के सुपर हीरो से मिलिए जिन्होंने अपनी जान की बाज़ी लगाकर सात लोगों को दिया नवजीवन!

UP के सुपर हीरो से मिलिए जिन्होंने अपनी जान की बाज़ी लगाकर सात लोगों को दिया नवजीवन!

आपने सुपर हीरो के बारे में तमाम फिल्में और टीवी सीरियल्स देखी होंगी। लेकिन आज हम आपका परिचय रियल लाइफ हीरो से करवाने वाले हैं, जिन्होंने अपनी जान की बाज़ी लगाकर सात लोगों को मौत की धारा से निकालकर जीवन ...

भारत के ‘लिटिल विश्वनाथन’ से मिलिए , जो बने दुनिया के दूसरे सबसे छोटे ग्रैंडमास्टर!

भारत के ‘लिटिल विश्वनाथन’ से मिलिए , जो बने दुनिया के दूसरे सबसे छोटे ग्रैंडमास्टर!

कहते हैं शतरंज की चाल हर किसी को नहीं आती। लेकिन शह-मात के इस खेल में देश के एक किशोर ने विश्वभर में कीर्ति पाई है और विश्व के दूसरे सबसे छोटे ग्रैण्डमास्टर का खिताब अपने नाम किया है। समाचार ...

बिहार की महिलाओं ने दिखाई कर्मठता—मात्र 3 दिनों में बना डाली 2 किमी लंबी सड़क!

बिहार की महिलाओं ने दिखाई कर्मठता—मात्र 3 दिनों में बना डाली 2 किमी लंबी सड़क!

इंसान यदि ठान ले तो कोई भी काम नामुमकिन नहीं है। भले ही उस कार्य को पूरा करने में किसी का साथ मिले या न मिले, लेकिन वो शख्स उसे पूरा करके ही दम लेता है। कुछ ऐसी ही कर्मठता ...

₹2 की कमाई में भी वृद्धा ने परिवार का पेट पाला—मेहनत की बदौलत आज मुंबई में है दो मंजिला मकान!

₹2 की कमाई में भी वृद्धा ने परिवार का पेट पाला—मेहनत की बदौलत आज मुंबई में है दो मंजिला मकान!

कौन कहत है कि खुशहाल जीवन व्यतीत करने के लिए ज्यादा पैसे होना ज़रुरी है। इंसान यदि चाहे तो कम आय में भी अपनी आजीविका चला सकता है और हंसी-खुशी जीवन व्यतीत कर सकता है। अब इन वृद्धा को ही ...

इस छात्र के आविष्कार से बदल जाएगी ‘कलम’ की दुनिया—प्रकृति को बचाने में भी करेगा योगदान!

इस छात्र के आविष्कार से बदल जाएगी ‘कलम’ की दुनिया—प्रकृति को बचाने में भी करेगा योगदान!

कभी सोचा है कि जिस कलम से आप कागज़ पर अपनी भावनाएं जाहिर करते हैं, बैंक में सिग्रनेचर करते हैं, ऑफिस में पेपर वर्क निपटा लेते हैं, उससे भी प्रकृति को नुकसान पहुंच सकता है? हालांकि, काम की व्यस्तता के ...

ज़िंदगी की खुशियां छीनने आई समस्याओं को दिव्यांग ने बनाया खुशियों का संचार करने का साधन!

ज़िंदगी की खुशियां छीनने आई समस्याओं को दिव्यांग ने बनाया खुशियों का संचार करने का साधन!

हर इंसान की ज़िंदगी में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। कोई समस्याओं का सामना नहीं कर पाता है, तो कोई बड़ी से बड़ी मुसीबतों के भंवर को भी आसानी से पार कर जाता है। बांग्लादेश की सीमा से सटे एक गांव ...

उम्र के जिस पड़ाव में उंगलियां थक जाती हैं, उस उम्र में ये वृद्धा युवाओं से तेज़ टाइपिंग कर रही हैं!

उम्र के जिस पड़ाव में उंगलियां थक जाती हैं, उस उम्र में ये वृद्धा युवाओं से तेज़ टाइपिंग कर रही हैं!

बूढ़ी आंखें, सफेद बाल और पुराने टाइपराइटर पर तेज़ी से चलती उंगलियां कोरे कागज़ का शब्दों से श्रृंगार कर रही हैं। ये पंक्तिया भले ही आपको कुछ फिल्मी लग सकती हैं। लेकिन सोशल मीडिया पर इन दिनो एक वृद्धा का ...

रोशनी और अंधेरे की खाई पाटेगी ‘इंकल्यूड’ की ये किताब—दृष्टिहीन और दृष्टि वाले दोनो पढ़ सकते हैं एक साथ!

रोशनी और अंधेरे की खाई पाटेगी ‘इंकल्यूड’ की ये किताब—दृष्टिहीन और दृष्टि वाले दोनो पढ़ सकते हैं एक साथ!

आंखों के रुप में ईश्वर ने हम सभी को अनमोल रत्न दिए हैं। जिसके सहारे हम संसार की खूबसूरती को देख सकते हैं और पढ़-लिखकर अपनी ज़िंदगी संवार सकते हैं। लेकिन कभी सोचा है उनका क्या जो किसी कारण वश ...

दृष्टिबाधित माता-पिता की बेटी को अपोलो में मिली नई रोशनी

दृष्टिबाधित माता-पिता की बेटी को अपोलो में मिली नई रोशनी

नेपाल के रहने वाले एक दृष्टिबाधित दंपति ने अपनी चार महीने की बेटी की जिंदगी रोशन करने के लिए भारत का रुख किया और आज उनकी बेटी इस रंगीन दुनिया को देखने में सक्षम हो गई है। देख पाने में ...