ग़ालिब के ऩररिये से कुछ यू्ं है ये ज़िंदगी—चंद अल्फाज़ों में बता दी कैसी है हयात तेरी-मेरी!

ग़ालिब के ऩररिये से कुछ यू्ं है ये ज़िंदगी—चंद अल्फाज़ों में बता दी कैसी है हयात तेरी-मेरी!

उर्दू के जाने-माने शायर मिर्ज़ा ग़ालिब अपनी शायरियों में ज़िंदगी को बखूबी दर्शाते थे। जिंदगी को देखने का ग़ालिब का अलग ही नज़रिया था, चंद अल्फाज़ों में वो जीवन के सुख-दुःख को बड़े ही सहजता से दर्शा देते थे। और ...

हिंदी के एक ऐसे कवि जिन्होंने हिंदी साहित्य को एक अलग ही मुकाम तक पहुंचाया!

हिंदी के एक ऐसे कवि जिन्होंने हिंदी साहित्य को एक अलग ही मुकाम तक पहुंचाया!

“देश की दुर्दशा निहारोगे, डूबते को कभी उभारोगे।’ कुछ करोगे कि बस सदा रोकर, दीन हो दैव को पुकारोगे।” या फिर, “शशि मुख पर घूँघट डाले अँचल में दीप छिपाये, जीवन की गोधूली में कौतूहल से तुम आये। मधुराका मुस्काती ...

मिर्जा गालिब की जयंती पर गूगल ने बनाया डूडल

मिर्जा गालिब की जयंती पर गूगल ने बनाया डूडल

27 दिसंबर 2017 उर्दू के लोकप्रिय शायर मिर्जा गालिब की बुधवार को 220वीं जयंती पर सर्च इंजन गूगल ने रोचक डूडल बनाकर उन्हें याद किया। गालिब का असली नाम मिर्जा असदुल्लाह बेग खान था लेकिन वह दुनियाभर में मिर्जा गालिब ...

अकबर इलाहाबादी : शायरी में व्यंग्य की धार ही पहचान

अकबर इलाहाबादी : शायरी में व्यंग्य की धार ही पहचान

17 नवंबर 2017 सैयद अकबर हुसैन रिजवी के नाम से लोग भले ही परिचित न हों, लेकिन ‘अकबर इलाहाबादी’ का नाम सुनते ही लोगों के दिलों में गजलों और शायरी का शोर उमड़ने और भावनाएं हिलोर मारने लगती हैं। उनका ...